शाहीनबाग में मौलाना कलीम सिद्दीकी के मदरसे पर एटीएस ने मारा छापा

0
1453

कथित धर्म परिवर्तन के आरोप में मेरठ के जाने-माने  मौलाना कलीम सिद्दीकी को गिर’फ्तार करने के कुछ दिनों बाद, उत्तर प्रदेश के आ*तंकवाद विरोधी दस्ते (एटीएस) ने मंगलवार को नई दिल्ली के शाहीन बाग में सिद्दीकी के मदरसे पर छापा मारा।

इससे पहले मौलाना मोहम्मद उमर गौतम और मुफ्ती काजी जहांगीर आलम कासमी को दिल्ली के देहली के जामिया नगर इलाके में इसी तरह के कथित फर्जी आरोपों के तहत गिर’फ्तार किया गया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यूपी एटीएस ने कोर्ट के आदेश के आधार पर छापेमारी की। कथित तौर पर एटीएस द्वारा फंडिंग से संबंधित दस्तावेजों को जब्त कर लिया गया है।

मौलाना कलीम सिद्दीकी का संगठन ग्लोबल पीस सेंटर शाहीन बाग के एफ-ब्लॉक में स्थित है। 64 वर्षीय मौलाना उत्तर प्रदेश के एक प्रमुख मौलवी और ग्लोबल पीस सेंटर और जामिया इमाम वलीउल्लाह ट्रस्ट दोनों के अध्यक्ष हैं।

एटीएस ने आरोप लगाया कि मौलाना भारत में “सबसे बड़ा (धार्मिक) धर्मांतरण सिंडिकेट चला रहा था।” यूपी के अतिरिक्त महानिदेशक (कानून और व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने दावा किया कि सिद्दीकी के जामिया इमाम वलीउल्लाह ट्रस्ट ने “सांप्रदायिक सद्भाव” कार्यक्रम चलाने की आड़ में अवैध धर्मांतरण किया।

इसके अलावा, उन्होंने आरोप लगाया, “जांच से पता चलता है कि मौलाना कलीम सिद्दीकी के ट्रस्ट को बहरीन से 1.5 करोड़ रुपये सहित विदेशी फंडिंग में 3 करोड़ रुपये मिले। इस मामले की जांच के लिए एटीएस की छह टीमों का गठन किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here