Home उत्तर प्रदेश फ्लाईओवर बनाने के लिए तोड़े गये थे तीन मंदिर, यह है भगवान...

फ्लाईओवर बनाने के लिए तोड़े गये थे तीन मंदिर, यह है भगवान का कहर – राजबब्बर

151
SHARE

वाराणसी में हुए दुःखद हादसे के बाद माहौल का जायज़ा लेने उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजबब्बर बुधवार को वाराणसी पहुंचे. वाराणसी में मंगलवार शाम एक निर्माणाधीन फ़्लाईओवर का हिस्सा गिर गया. पुल के नीचे से गुज़र रही कई गाड़ियां फ़्लाईओवर के पिलर के नीचे दब गईं. पिलर के नीचे से 18 लोगों के शव निकालेे जा चुकेे हैंं. मामले की गंभीरता देखते हुए राजबब्बर ने फ्लाईओवर हादसे में घायल लोगों से मुलाकात की और पीड़ितों से उनका हालचाल पूछा.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, राजबब्बर ने कहा कि उन्हें बताया गया है कि पुल को चुनाव से पहले तैयार करने के लिए तीन विनायक मंदिरों को तोड़ा गया था. इसलिए लोगों का यह मानना है कि हादसा भगवान विनायक के श्राप की वजह से ही हुआ है. मीडिया से बातचीत के दौरान राजबब्बर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि, उन्होंने कहा कि बनारस के सांसद होने के नाते पीएम मोदी को यहां आना चाहिए था. लेकिन वह इतना बड़ा हादसा होने के बाद भी यहाँ मौजूद नहीं है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

राजबब्बर ने कहा कि, कर्नाटक चुनाव में व्यस्त हैं. राजबब्बर ने राज्य सरकार से मृतकों के परिजनों को 50-50 लाख रुपये और घायलों को 10-10 लाख रुपये मुआवजा देने की भी मांग की. आपको बता दें कि, मंगलवार शाम साढ़े पांच बजे के करीब निर्माणाधीन चौकाघाट-लहरतारा फ्लाईओवर का एक हिस्सा कैंट रेलवे स्टेशन के सामने गिर गया. इस हादसे में 18 लोगों की मौत हो गई जबकि 30 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं. आननफानन में जख्मियों को अस्पताल ले जाया गया. आलम यह था की हादसे वाली जगह पर पूरी तरह चीख-पुकार मची थी.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मामले में सीएम योगी ने 48 घंटे में रिपोर्ट तलब की है और मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये और घायलों को दो-दो लाख रुपये मुआवजे का ऐलान किया है. अब उम्मीद की जा रही है कि ज्यादा लोगों की मौत की खबर सामने नहीं आये. पीएम मोदी ने भी वाराणसी हादसे पर दुःख ज़ाहिर किया है.

Loading...