अपराधियों से साठगांठ करने वाले पुलिसकर्मियों पर सीएम योगी ने दिये कार्रवाई के आदेश

उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को चाक-चौबंद बनाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस महकमे के आला अधिकारियों की बैठक लेकर अपराधियों से साठगांठ करने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई करने के सख्त आदेश जारी किए। उन्होने जिला और थाना स्तर के टॉप-10 अपराधियों पर कार्रवाई तेज करने को कहा।

मंगलवार देर शाम कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने मोहर्रम, गणेश उत्सव, अनंत चतुर्दशी जैसे त्योहारों को देखते हुए पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों को पूरी सतर्कता बरतने के साथ-साथ सभी आवश्यक सुरक्षा उपाय करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के चलते सार्वजनिक स्थानों पर धार्मिक व सांस्कृतिक आयोजन व कार्यक्रम की अनुमति नहीं है। ऐसा पाए जाने पर सख्ती से कार्रवाई की जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सोशल मीडिया पर सतर्क नजर रखें और अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। कहा कि अपराध और अपराधियों के प्रति राज्य सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति है। अराजकता व अव्यवस्था फैलाने वाले माफ नहीं किए जाएंगे। समाज विरोधी व राष्ट्र विरोधी तत्वों के खिलाफ समय से कार्रवाई हो जानी चाहिए। साथ ही अपराधियों से साठगांठ रखने वाले कर्मियों को भी चिन्हित करते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिले के टॉप टेन व थाना स्तर पर टॉप टेन की सूची में दर्ज अपराधियों पर कानून का डंडा चलना चाहिए। बीट प्रणाली को मजबूत करें। फुट पेट्रोलिंग निरंतर हो। उन्होंने कहा कि अपराध होने पर शस्त्रों के लाइसेंस का निलंबन व जब्ती करें। गो तस्करी, अवैध शराब, समाज के कमजोर वर्गों, अनुसूचित जाति व जनजाति महिलाओं व बालिकाओं के विरुद्ध होने वाले अपराधों पर भी शीघ्रता से कार्रवाई की जाए।

इससे पहले उन्होने खाद की कालाबाजारी पर एनएसए के तहत कार्रवाई के निर्देश दिये थे। जिसके बाद राज्य में खाद की दुकानों के औचक निरीक्षण में अब तक 623 विक्रेताओं के लाइसेंस निलंबित किया जा चुका है। इसके साथ ही 35 के खिलाफ मामला भी दर्ज कराया गया है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE