दीपावली से पहले योगी सरकार ने गोरखपुर को दी विकास की सौगात

गोरखपुर. मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने दिवाली से पहले गोरखपुरवासियो को विकास की सौगात देते हुए विद्युत प्रणाली के सुदृढ़ीकरण हेतु 4 नई विद्युत परियोजनाओं की घोषणा की है। जिसके तहत लगभग 216 करोड़ रुपए की लागत की विभिन्न विद्युत परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि जनपद में ऊर्जा विभाग द्वारा जिन 12.30 करोड़ के कार्यो का लोकार्पण किया है उनमे पादरी बाजार उपकेंद्र की क्षमता 20 एमवीए हुई, इस पर कुल 25.98 लाख खर्च हुआ है। रानीबाग उपकेंद्र की क्षमता 15 एमवीए हुई। इस पर कुल 27.02 लाख रुपये खर्च किए गए हैं। खोराबार में पांच एमवीए ट्रांसफार्मर लगा है। इस पर 77.68 लाख रुपये खर्च आया है। शहर में नए ट्रांसफार्मरों की स्थापना में कुल 389.67 लाख रुपये खर्च किए गए हैं। इसी तरह से शहर में पुराने व जर्जर तार हटाए गए। इस पर कुल 310 लाख रुपये खर्च हुए हैं। शहर में पुराने तार की जगह एबी केबल लगे हैं। इस पर कुल 400 लाख रुपये खर्च किए गए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार का दृष्टिकोण रचनात्मक व सकारात्मक होने के कारण बगैर किसी भेदभाव के लोगों को विद्युत परियोजनाओं सहित अन्य जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है। आम आदमी के जीवन स्तर में व्यापक सुधार आया है। पूर्व सरकारों में विद्युत आपूर्ति में कटौती होती थी, लेकिन अब निर्बाध विद्युत आपूर्ति निर्धारित रोस्टर के अनुसार लोगों को प्राप्त हो रही है। निःशुल्क विद्युत कनेक्शन उपलब्ध कराए गए हैं। नए विद्युत उपकेन्द्रों और ट्रांसफार्मर्स की स्थापना की गई है। जर्जर तारों और पोल को बदला गया है। अण्डरग्राउण्ड केबलिंग की गई है, जिससे विद्युत दुर्घटनाओं पर रोक लगी है। हर गांव और मोहल्ले की तस्वीर बदली है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विद्युत सुधार के कार्यक्रमों को अलग-अलग स्तर पर तेजी के साथ संचालित किया जा रहा है। सब-स्टेशनों की क्षमता में भी मांग के अनुसार वृद्धि की गई है। सरकार का ध्यान सभी वर्गों के प्रति होने के कारण कस्बे और गांवों को भी बिजली आपूर्ति होने से शहरी जीवन का लाभ मिला है। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के बावजूद राज्य में निर्बाध विद्युत आपूर्ति जारी रही। कोविड-19 से संघर्ष करते हुए विकास की प्रक्रिया को थमने नहीं दिया गया। तेजी के साथ सम्पादित किए गए विकास कार्यों से जनता को लाभ मिला। इसी श्रृंखला में गोरखपुर जनपद के लिए लगभग 216 करोड़ रुपए की परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास सहित नई परियोजनाओं को प्रस्तावित किया जा रहा है।

इन कार्यो का किया शिलान्यास

  • बिछिया- 10 एमवीए क्षमता के उपकेंद्र का निर्माण : 6.48 करोड़ रुपये।
  • महादेव झारखंडी नंबर एक- दिव्यनगर क्षेत्र में 10 एमवीए के उपकेंद्र का निर्माण – 9.44 करोड़ रुपये।
  • शहर में बांस-बल्ली की जगह पोल व तार लगाने का कार्य – 10.94 करोड़ रुपये।
  • खजनी में 80 एमवीए के 132 केवी पारेषण उपकेंद्र का निर्माण – 56.21 करोड़ रुपये।
  • 132 केवी मोहद्दीपुर पारेषण उपकेंद्र की क्षमता बढ़ाने का कार्य – 2.65 करोड़ रुपये।
  • 132 केवी गीडा पारेषण उपकेंद्र की क्षमता बढ़ाने का कार्य – 4.56 करोड़ रुपये।
  • 132 केवी मोतीराम अड्डा द्वितीय पारेषण उपकेंद्र की क्षमता वृद्धि – 1.75 करोड़ रुपये।
  • 108.52 करोड़ के कार्यों की मुख्यमंत्री करेंगे घोषणा
  • खोराबार में 220 केवी जीआइएस पारेषणा उपकेंद्र, क्षमता 180 एमवीए का कार्य – 101.02 करोड़ रुपये।
  • 60 किलोमीटर जर्जर व क्षतिग्रस्त तार की जगह एलटीएबी केबल बिछाने का कार्य – 4.80 करोड़ रुपये।
  • 100 किलोमीटर क्षतिग्रस्त व जर्जर तार हटाकर डाग तार लगाने का कार्य – 1.20 करोड़ रुपये।
  • 1000 पोल बदलने का कार्य – 1.50 करोड़ रुपये।

    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE