Home उत्तर प्रदेश AMU विवाद: दोषियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर छात्रों ने शुरू...

AMU विवाद: दोषियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर छात्रों ने शुरू की भूख हड़ताल

127
SHARE

बीती दो मई को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के कैंपस में हिन्दुत्ववादी कार्यकर्ताओं की और से गुंडागर्दी और पुलिस के लाठीचार्ज के खिलाफ धरने पर बैठे एएमयू छात्रों ने अब भूख हडताल शुरू कर दी है.

छात्रों की मांग है कि जब तक हमलावर गिरफ्तार नहीं होते, वे पीछे हटने वाले नहीं हैं। धरने के बीच शनिवार से एएमयू में परीक्षाएं भी शुरू हो गईं. छात्रों के धरने का शनिवार को 11वां दिन था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

छात्रों की एक मांग यह भी है कि उन पुलिस अधिकारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाए जिन्होंने एएमयू छात्रों पर लाठीचार्ज के आदेश दिए थे. लाठीचार्ज में कई छात्र घायल हुए थे. एमयू छात्रसंघ के नेताओं ने जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह से मुलाकात कर आज शाम तक उनकी मांगों पर विचार कर उनका हल निकालने की मांग की थी.

छात्रसंघ का कहना है कि हमें मामले का ठोस हल निकलने की आशा है. इस संबंध में सवाल करने पर जिलाधिकारी ने कहा कि छात्रों का धरना जारी रहने तक बातचीत की कोई संभावना नहीं है.

डीएम चंद्रभूषण सिंह ने बताया कि वह एएमयू छात्रों की जायज मांगों के पक्ष में पहले दिन से ही हैं. कानूनी प्रक्रिया के तहत उसका पालन भी होगा. जहां तक बात धरना खत्म होते ही सभी 300 छात्रों के खिलाफ मुकदमा खत्म होने की है, ऐसा नहीं होगा. जो निर्दोष होगा, वही बचेगा.

दूसरी ओर एएमयू छात्रों पर हमले में आरोपित अमित गोस्वामी को सम्मानित करने पर यूनिवर्सिटी के जिम्नेजियम कोच मजहर उल कमर को इंतजामिया ने कारण बताओ नोटिस दिया है. नोटिस में पूछा है कि जिसके खिलाफ पूरी अलीग बिरादरी खड़ी हो, ऐसे में अमित को सम्मानित क्यों किया गया. दरअसल, शुक्रवार के उन्होंने डीएस कॉलेज में अमित को पुष्पगुच्छ भेंट किया था. इससे एएमयू छात्रों में नाराजगी है.

Loading...