AAP सांसद संजय सिंह पर 6 मुकदमे दर्ज, लखनऊ में पार्टी कार्यालय पर लगा ताला

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह के खिलाफ यूपी में छह मुकदमे दर्ज किए गए है। इस बात की जानकारी खुद दी है। उन्होने सीएम योगी आदित्यनाथ से कहा कि क्या अब डंडेशाही से यूपी चलेगा? आप यह एफआईआर-एफआईआर खेलने बंद करिए। यह बचकाना खेल बंद करिए।

सिंह ने कहा, “योगी सरकार ने लखनऊ के हजरत गंज थाने छठी FIR भी दर्ज कर ली है। थाने 1700, पर FIR मात्र 6 बहुत नाइंसाफ़ी है। 1700 एफआईआर लिखवा कर दिखाइए। अगर आप ऐसा नहीं करा सकते तो मतलब है कि थानेदार भी सीएम योगी की नहीं सुनते हैं”

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक संजय सिंह पर आरोप है कि उन्होंने पार्टी दफ्तर चलाने के लिए लखनऊ में जगा ली थी और यह रेंट एग्रीमेंट खत्म होने के बाद मकान मालिक ने कहा कि इसकी वजह से हमने अब पार्टी दफ्तर में ताला लगा दिया है। संजय सिंह के खिलाफ लखीमपुर खीरी, संतकबीरनगर, अलीगढ़, मुजफ्फरनगर और ग्रेटर नोएडा में कथित रूप से समुदायों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने और हाल ही में पुलिस कार्रवाई और अन्य मुद्दों पर उनकी टिप्पणी के बाद समान आरोपों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए हैं।

इस बारे में आप सांसद ने कहा कि “कार्यालय के मकान मालकिन से बयान दिलाया गया है, पुलिस कैसे काम करती है पूरा देश जानता है यूपी पुलिस बताये कल आप के प्रदेश प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी के घर पुलिस क्यों गई थी? कार्यालय का पता क्यों पूछा था? सुबह से कार्यालय के बाहर पुलिस का जमावड़ा क्यों था? पहले उसी आफिस में कई प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई तो आज क्या हुआ?”

उन्होने कहा, योगी सरकार बड़े-बड़े दावे ज़रूर कर रही है लेकिन हक़ीक़त ये है की यू पी देश का पहला राज्य है जहाँ कोरोना से दो मंत्रियों की मृत्यु हो चुकी है, किसकी जवाबदेही है? सरकार कोरोना रोकने के बजाय मुक़दमा लिखने में व्यस्त है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE