Home टेक्नोलॉजी Jio की यह सर्विस दे रही है यूज़र को हर महीने 1.1...

Jio की यह सर्विस दे रही है यूज़र को हर महीने 1.1 टीबी फ्री डेटा

1272
SHARE

रिलायंस Jio अब जियो फाइबर फिक्स्ड लाइन ब्रोडबैंड सर्विस भी लेकर आ गये है. जल्द ही जियो फाइबर की सेवाएं शुरू भी होने वाली है. इस साल मई के अंत तक इसके कुछ शहरों में शुरू होने की उम्मीद है.  Jio फाइबर (फाइबर टू द होम) (FTTH) यूज़र को प्रिव्यू प्लान के तौर पर 1.1 टीबी टेरा बाईट मुफ्त डेटा दे रही है.  मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक,  Jio Fiber की टेस्टिंग अहमदाबाद, चेन्नई, जामनगर, मुंबई और दिल्ली जैसे प्रमुख शहरों में चल रही है.

आपको बता दें कि, रिलायंस इंडस्ट्रीज़ के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने जुलाई में इस सेवा के बारे में ज़िक्र भी किया था.
द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक, Jio फाइबर क सदस्य ने बताया,  Jio फाइबर का नया शुरुआती प्लान 100 जीबी मुफ्त डेटा देगा, जिसकी स्पीड 100Mbps होगी.  यह डेटा हर महीने यूजर को दिया जाएगा. एक बार एफयूपी होने के बाद यूज़र 40 जीबी फ्री डेटा टॉप-अप्स के तौर पर पाएंगे. यह महीने में 25 बार तक के लिए प्रभावी होगा। यानी, 1,100 जीबी व तकरीबन 1.1 टीबी मुफ्त डेटा यूज़र को दिया जाएगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वैसे आपको बता दें कि अभी यह तय नहीं हो पाया है कि, यह 1.1 टीबी डेटा समान स्पीड में दिया जाएगा या नहीं. Jio अपनी फाइबर सेवा की शुरुआत 30 शहरों में करेगी. पहले भी प्रिव्यू प्लान की जानकारी सामने आई थी, जिसमें ग्राहकों को पहले तीन महीने तक के लिए 100 जीबी मुफ्त डेटा दिए जाने की बात कही गई थी. यह डेटा 100Mbps की रफ्तार से तय किया गया था. 100 जीबी से ऊपर रफ्तार 1Mbps हो जाती थी.

Jio फाइबर कनेक्शन को शुरुआत में 4,500 रुपये के ब्याज-मुक्त सिक्यॉरिटी डिपॉजिट पर लिया जा सकेगा. यह रिफंडेबल एमाउंट होगा. jio के एक अधिकारी ने बताया, कंपनी यूज़र के यहां राउटर इंस्टाल करेगी, जो टीवी के सेट-टॉप बॉक्स का भी काम करेगा. Jio ने अभी तक पूरे देश में 3 लाख किलोमीटर का ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क तैयार कर लिया है.

वहीँ अधिकारी ने बताया कि, हमने Jio फाइबर को लेकर कंपनी से ज्यादा जानकारी की मांग की. जवाब मिलने पर हम यहां अपडेट करेंगे. आपको बता दें कि तिमाही परिणामों के मुताबिक, Jio के यूज़र साल 2018 की पहली तिमाही तक 18 करोड़ हो चुके हैं। पिछले साल समान आंकड़ा 16 करोड़ के करीब था.

Loading...