Home राजनीति गांधी ने माना था बकरी को माता, मांस खाना बंद करे हिन्दू:...

गांधी ने माना था बकरी को माता, मांस खाना बंद करे हिन्दू: सुभाष चंद्र बोस के पड़पोते

1868
SHARE

देश में गौरक्षा के नाम पर हो रही हत्याओं के संदर्भ में नेताजी सुभाष चंद्र बोस के पड़पोते और पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के उपाध्यक्ष चंद्र कुमार बोस ने हिन्दू समुदाय को बकरी का मांस खाना बंद करने की नसीहत दी है।

एएनआई के मुताबिक सीके बोस ने अपने ट्वीट में कहा कि ‘महात्मा गांधी जब कोलकाता में मेरे दादा के घर रुके थे तो उन्होंने बकरी के दूध की मांग की थी। उनके लिए दो बकरियां लाई गईं। गांधी जी जिन्हें हिंदुओं का रक्षक माना जाता था, उन्होंने बकरी का दूध पीकर उसे मां समान माना। ऐसे में हिंदुओं को बकरी का मीट खाना बंद कर देना चाहिए।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस ट्वीट पर राज्यपाल तथागत रॉय ने जवाब दिया कि-  ‘ना ही बापू और ना ही आपके दादा ने कभी बकरी को माता कहा या माना, ये आपका निष्कर्ष है। ना ही कभी गांधी जी ने और ना ही किसी और ने खुद के हिन्दुओं के रक्षक होने का दावा किया। हम हिन्दू गाय को माता मानते हैं न कि बकरी को।  कृपया एेसी सड़ी बातों को फैलाना बंद करें’।

इस पर शरत चंद्र बोस ने सफाई देते कहा कि, लोगों को मेरे ट्वीट के पीछे कि सूक्ष्मता को समझना चाहिए। पूरा देश लिन्चिंग की बढ़ती घटनाओं से हैरान है। देश में गाय आधारित जो राजनीति और बीजेपी शासित राज्यों में लिन्चिंग चल रही है वो बेहद घटिया है। गांधी जी ने हमारे घर में रहते हुए बकरी के दूध पर बल दिया था। यह माना जा सकता है कि उन्होंने बकरी को मां की तरह माना। इस पर कोई विवाद या तर्क करने की जरूरत नहीं है।

Loading...