Home राजनीति औरंगाबाद हिंसा थी सुनियोजित योजना का हिस्सा: विधायक इम्तियाज ज़लील

औरंगाबाद हिंसा थी सुनियोजित योजना का हिस्सा: विधायक इम्तियाज ज़लील

99
SHARE

औरंगाबाद हिंसा को लेकर ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) विधायक इम्तियाज ज़लील ने सुनियोजित योजना का हिस्सा करार दिया. उन्होंने कहा कि सांप्रदायिक माहौल को खराब करने के लिए ये सब कुछ किया गया.

ज़लील ने कहा,’ सरकार और पुलिस को जल्द से जल्द अपराधियों को पकड़ना चाहिए.’ औरंगाबाद के कार्यकारी पुलिस कमिश्नर मिलिंद भारामारे ने बताया कि इलाके में राज्य रिजर्व पुलिस बल की 7 कंपनियों को तैनात कर दिया गया हैं. साथ ही एक दंगा नियंत्रण कंपनी को भी तैनात कर दिया गया है. फिलहाल हालात नियंत्रण में है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बता दें कि शुक्रवार रात को हुई सांप्रदायिक हिंसा की आग में एक नाबालिग सहित दो लोगों की मौत हो गई है. जबकि पचास से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे है. सांप्रदायिक हिंसा शहर के गांधीनगर, राजाबाजार और शाहगंज इलाकों में फैली.

इस हिंसा के दौरान 100 से ज्यादा लोगों ने पत्थरबाजी की और 50 से ज्यादा दुकानें जला दी गई. हिंसा में एसीपी गोवर्धन कोलेकर सहित कम से कम 10 पुलिसकर्मी भी बुरी तरह घायल बताए जा रहे है. इसके अलावा पुलिस स्टेशन के चीफ हेमंत कदम और इंस्पेक्टर श्रीपद परोपकारी भी घायल हुए हैं.

हिंसा में मारा गया नाबालिग मोहम्मद हारिस दसवीं क्लास में पढ़ता था. परिजनों के अनुसार, उनका बेटा गोलीबारी में मारा गया. वह बड़ा होकर इंजीनियर बनना चाहता था. पुलिस ने अब तक 24 लोगों को गिरफ्तार किया है.

Loading...