Home राष्ट्रिय मेयर की गाडी रोकने के आरोप में ट्रैफिक हवालदार ससपेंड

मेयर की गाडी रोकने के आरोप में ट्रैफिक हवालदार ससपेंड

135
SHARE

mayer_oath_3july

रांची | अजीब लोकतंत्र है इस देश में. अगर कोई सरकारी कर्मचारी ठीक से काम नही करता तो लोक ( जनता ) नही जीने देती और अगर ठीक से काम करता है तो तंत्र ( सरकार) नही जीने देती. बेचारा सरकारी कर्मचारी करे तो क्या करे. झारखण्ड की राजधानी रांची में के ट्रैफिक हवालदार को इसलिए ससपेंड कर दिया गया क्योकि उसने अपनी ड्यूटी निभाते हुए मेयर की गाड़ी को रोक दिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मिली जानकारी के अनुसार रांची की मेयर आशा लकड़ा सुबह 11 बजे हरमू रोड की तरफ जा रही थी. तभी एक ट्रैफिक सिग्नल पर ट्रैफिक हवालदार संजीव कुमार ने उनकी गाडी रोकने का प्रयास किया लेकिन मेयर के ड्राईवर ने गाडी नही रोकी. ऐसे में ट्रैफिक पुलिस ने मेयर की गाडी को घेर लिया. गाडी रुकने के बाद मेयर के ड्राईवर गाडी से निकलकर बाहर आया और संजीव कुमार से उलझ गया.

मामला बढ़ता देख आशा लकड़ा भी गाडी से बाहर निकली. इस दौरान चौराहे पर काफी जाम लग गया. कुछ ही देर में आशा के समर्थक भी वहां आ पहुंचे. इस बीच आशा ने ट्रैफिक एसपी को फ़ोन लगाकर संजय कुमार की शिकायत की. हालांकि संजय कुमार ने मेयर साहिबा से माफ़ी भी मांगी लेकिन वो शांत नही हुई. इसी दौरान वहां से मुख्यमंत्री रघुवर दास का भी काफिला गुजरा.

मेयर आशा लकड़ा ने सड़क पर मुख्यमंत्री का काफिला रोककर ट्रैफिक हवालदार संजय कुमार की शिकायत की. मुख्यमंत्री ने मामले का संज्ञान लेकर उचित कार्यवाही करने का आश्वासन दिया. कुछ देर बाद ही ट्रैफिक एसपी ने संजय कुमार को ससपेंड कर दिया. मेयर के ड्राईवर ने संजय कुमार पर गाली गलोच करने का आरोप लगाया तो वही संजय कुमार का कहना है की मेयर की गाड़ी ने ट्रैफिक सिग्नल तोडा इसलिए उन्होने गाडी को रोका. आपको बताते चले की आशा लकड़ा बीजेपी की समर्थिक उम्मीदवार के तौर पर रांची के मेयर पद का चुनाव जीती थी.

Loading...