कोरोना से लड़ाई में आगे आए रतन टाटा, 1500 करोड़ रुपये की मदद का ऐलान

कोरोनावायरस संकट के बीच देश के प्रमुख उद्योगपति और Tata Group के चेयरमैन रतन टाटा ने राहत कोष में 1500 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया है। इसमें टाटा ट्रस्ट ने 500 करोड़ रुपये का फंड दिया है और टाटा सन्स ने भी 1000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त योगदान किया है।

रतन टाटा ने कहा कि इस फंड का इस्तेमाल मेडिकल कर्मियों को सुरक्षा के लिए उपकरण, बढ़ते हुए मामलों के इलाज के लिए रेसपिरेटरी सिस्टम, देश में टेस्टिंग को बढ़ाने के लिए टेस्टिंग किट और जो लोग वायरस से संक्रमित हैं, उनके लिए इलाज की सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए होगा। ग्रुप ने यह भी कहा है कि वह स्वास्थ्य कर्मियों और आम लोगों को कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए ट्रेनिंग देगा।

रतन टाटा ने राहत कोष का एलान करते हुए कहा कि कोविड-19 के संकट से लड़ने के लिए तुरंत इमरजेंसी में संसाधनों को लगाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि यह मानव जाति के सामने आने वाली सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक है। इससे पहले भी रतन टाटा समाज की बेहतरी के लिए कई चीजों से जुड़ चुके हैं।

वहीं, अभिनेता अक्षय कुमार ने 25 कराेड़ रुपए देने की घाेषणा की है। आनंद महिंद्रा ने भी बीते कल अपनी पूरी सैलेरी को डोनेट करने की घोषणा की थी। इसके अलावा महिंद्रा सबसे कम कीमत का वेंटिलेटर सिस्टम भी तैयार कर रही है। बताया जा रहा है कि इसकी कीमत तकरीबन 7,500 रुपये होगी।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने इससे पहले एलान किया था कि कंपनी आइसोलेशन सेंटरों की स्थापना की है। इसके अलावा उन्होंने कहा था कि उनकी कंपनी ने एक अस्पताल की भी स्थापना और महाराष्ट्र सरकार के राहत कोष में 5 करोड़ रुपये का डोनेशन दिया है। इधर, काेराेना से लड़ाई के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी ने अापदा राहत काेष शुरू किया है। लाेगाें से सहयोग की अपील की है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE