शाहीन बाग की महिलाओं ने अब 5 मीडिया हाउस को भेजा करोड़ का मानहानि का नोटिस

सीएए के खिलाफ शाहीन बाग में चल रहे प्रोटेस्ट को लेकर लगाए गए बेबुनियाद आरोपो को लेकर नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने एक कानूनी जंग भी छेड़ दी है।

मंगलवार को एडवोकेट महमूद पारचा ने दो प्रदर्शनकारियों की शिकायत पर बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय को नोटिस भेजा था। अब अर्नब गोस्वामी के रिपब्लिक टीवी, सुधीर चौधरी की ज़ी न्यूज़, टाइम्स नाउ द्वारा द टाइम्स ग्रुप, टीवी 18 और न्यूज़ नेशन को भी इस तरह का नोटिस जारी किया गया है। इन सभी को 1 करोड़ रुपये का मानहानि का कानूनी नोटिस भेजा गया।

मानहानि नोटिस भेजने वाली शहजाद फातिमा का कहना है कि जिस तरह से राजनीतिक पार्टियां भीड़ बुलाती हैं, वैसा ही हमे समझ रहे हैं। हम संविधान बचाने के लिए सड़कों पर है, लेकिन पैसे की बात कर हमारे प्रदर्शन को बदनाम किया गया, ताकि इसे खत्म किया जाए।

वहीं शाहीन बाग में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर महमूद पारचा ने कहा कि लगातार प्रदर्शन को खत्म करने की कोशिश बीजीपी सरकार कर रही है। हर तरह के हथकंडे अपना रही है। आईटी सेल अमित मालवीय के साथ ही उन चैनलों को भी नोटिस भेजा गया है, जिसने वायरल वीडियो की पूरी सचाई जाने बिना ही चलाया।

मालवीय को भेजे गए कानूनी नोटिस में तत्काल माफी मांगने और एक करोड़ रुपये का भुगतान करने की मांग की गई। फिलहाल निचली अदालत में मानहानि का मुकदमा दायर नहीं हुआ है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]