प्रदर्शन कर रहे किसानों ने पंजाब में ट्रेनों की आवाजाही को दी अनुमति

पंजाब में ट्रेनों के संचालन (Train Services in Punjab) को लेकर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने अगले 15 दिनों तक ट्रेनों के संचालन की अनुमति दे दी। किसान यूनियनों ने घोषणा की है कि 23 नवंबर से 15 दिनों के लिए सभी ट्रेनों को फिर से शुरू किया जा सकता है, उन्हें रोका नहीं जाएगा।

राज्य सरकार के एक बयान के मुताबिक, सोमवार से ट्रेनों के संचालन के लिए रेलवे ट्रैक को खाली कराया जाएगा। ट्रैक के खाली होने के बाद पंजाब के रास्ते ट्रेनों का संचालन बहाल हो सकेगा। रेलवे के अधिकारियों ने इसे लेकर राहत की सांस ली है।

हालांकि उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी दीपक कुमार का कहना है कि पंजाब सरकार की ओर से ट्रेनों के संचालन की आधिकारिक सूचना मिलने के बाद ही ट्रेनों के संचालन को पुन: शुरू कराने का फैसला हो सकेगा।

इस मामले में पंजाब सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि मैं इस कदम का स्वागत करता हूं क्योंकि यह हमारी अर्थव्यवस्था को सामान्य स्थिति में लाने में मदद करेगा। मैं केंद्र सरकार से पंजाब के लिए रेल सेवाओं को फिर से शुरू करने का आग्रह करता हूं ।

बता दें कि करीब दो महीने से पंजाब में विवादास्पद कृषि बिलों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान रेलवे ट्रैक पर ही धरना दे रहे हैं। इस आंदोलन के कारण 19 नवंबर तक उत्तरी रेलवे को 891 करोड़ के राजस्व का नुकसान हुआ है। साथ ही भारतीय रेलवे को कमाई के मामले में भी 2220 करोड़ रुपये का घाटा उठाना पड़ा है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE