Home राष्ट्रिय CAA: शाहीनबाग की तरह इलाहाबाद में भी प्रदर्शन, कड़ाके की सर्दी में...

CAA: शाहीनबाग की तरह इलाहाबाद में भी प्रदर्शन, कड़ाके की सर्दी में धरने पर बैठी महिलाएं

106
SHARE

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और प्रस्तावित नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन कानून के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में करीब एक महीने से महिलाओं का धरना-प्रदर्शन जारी है।

रविवार को प्रदर्शन स्थल पर सभी धर्मों के लोग जमा हुए और कौमी एकता का शानदार नजारा देखने को मिला। प्रदर्शनकारियों ने वहां CAA का विरोध करते हुए हवन-पूजन किया। इस दौरान कई धर्मों के लोग एक साथ आए। बताया जा रहा है कि इस समारोह प्रदर्शनकारियों ने गीता, बाइबल और कुरान को पढ़ा। इस दौरान अलग-अलग धर्मों के लोगों ने संविधान की प्रस्तावना को पढ़ा और धर्मनिपरपेक्षता की शपथ ली।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी तर्ज पर अब यूपी के प्रयागराज यानि इलाहाबाद में भी मंसूर अली पार्क में महिलाओं ने धरने पर बैठना शुरू कर दिया है। महिलाओं का कहना है कि यदि दिल्ली में कड़ाके की ठंड में कोई बैठ सकता है तो हम क्यों नहीं।

एक निजी फर्म में काम करने वाली 26 वर्षीय सारा अहमद ने कहा कि “हम इस असंवैधानिक (नागरिकता) कानून और NRC के खिलाफ हैं। ज्यादातर महिलाएं एक भारतीय नागरिक के रूप में यहां बैठी हैं। यहां सभी आयु वर्ग और धर्मों के लोग हैं। हम इसे दिल्ली के शाहीन बाग में हो रहे प्रदर्शन की तरह बनाएंगे। अगर दिल्ली की महिलाएं ठंड में बाहर बैठ सकती हैं, तो हम क्यों नहीं? हम यहां 24 घंटे बैठेंगे और आने वाले दिनों में अपना विरोध जारी रखेंगे और यह बंद नहीं होगा।”

उन्होंने आगे कहा कि “मुझे लगता है कि इससे महिलाए सबसे ज्यादा पीड़ित होगी, इसलिए हम लोग इनके अधिकारों की लड़ाई में आगे से नेतृत्व करेंगे।” नीट (NEET) की तैयारी कर रही लाईबा शमीम (19) ने कहा कि सभी आयु वर्ग के लोग इस विरोध का हिस्सा हैं। “जो कोई भी इस विरोध का दौरा करता है, वह देख सकता है कि पांच साल लेकर 70 साल तक के लोग यहां मौजूद हैं। ज्यादातर महिलाएं और बच्चे हैं। हम सीएए-एनआरसी के खिलाफ हैं और अपनी आवाज उठा रहे हैं। ”

एक अन्य प्रदर्शनकारी गायत्री गांगुली (62) ने कहा कि, “मैं यहां विरोध के साथ अपनी एकजुटता दिखाने के लिए आई हूं। मैं पूरी रात यहां बैठूंगी क्योंकि अगर ये महिलाएं कर सकती हैं तो मैं भी कर सकती हूं। ”

इस बीच पुलिस ने कहा कि वे प्रदर्शनकारियों से अपने धरने को बंद करने का आग्रह कर रहे हैं। एसएसपी (प्रयागराज) सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने कहा कि,“महिलाओं का एक समूह पार्क में इकट्ठा हुआ है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर हैं। वे महिलाओं से बात कर रहे हैं। वे सीएए, एनआरसी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। हमें उनकी योजना के बारे में पता नहीं है, लेकिन हम उनके साथ बातचीत कर रहे हैं। हम उन्हें बता रहे हैं कि शहर के लोग पहले ही विरोध कर चुके हैं। हमने उनसे कहा कि ठंड में बैठना व्यर्थ है। हालात नियंत्रण में हैं और हम इसकी निगरानी रख रहे हैं। ”

Loading...