जांच में पतंजलि सरसों का तेल पाया गया घटिया खाद्य गुणवत्ता का

राजस्थान सरकार ने बुधवार को दावा किया कि बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि द्वारा बेचा जाने वाला सरसों का तेल घटिया गुणवत्ता का पाया गया है।

राज्य सरकार के अनुसार सिंघानिया ऑयल मिल द्वारा पतंजलि को सप्लाई किए गए सरसों के तेल के पांच सैंपल की जांच की गई। पांचों सैंपल फेल हो गए। वे अपेक्षित मानक या गुणवत्ता के नहीं थे।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ ओमप्रकाश मीणा ने बताया कि 27 मई को स्थानीय प्रशासन की मौजूदगी में सरसों के तेल के पाउच की खाद्य सुरक्षा का परीक्षण किया गया था। परीक्षण रिपोर्ट अलवर में खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण प्रयोगशाला द्वारा तैयार की गई।

मीणा ने कहा कि पतंजलि की सरसों के तेल की थैली और सरसों के तेल की बोतल घटिया खाद्य सामग्री पाई गई। श्री श्री तत्व ब्रांड के सरसों के तेल का भी यही परिणाम रहा। इस दौरान पार्लियामेंट ब्रांड का सरसों का तेल घटिया और नकली खाद्य पदार्थ का पाया गया।

बाबा रामदेव की पतंजलि ने अभी तक इस मुद्दे पर कोई बयान जारी नहीं किया है।

करीब दो हफ्ते पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आदेश पर अलवर कलेक्ट्रेट के अधिकारियों ने सिंघानिया तेल मिल पर छापा मारा था। बड़ी मात्रा में पतंजलि के पैकिंग पाउच और उत्पाद बरामद किए गए और मिल को सील कर दिया गया।