पाक विदेश मंत्री चीन के दौरे पर, भारत के खिलाफ रच दोनों देश बड़ी साजिश

पाकिस्‍तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी अपनी एक दिवसीय चीन यात्रा पर हेनान पहुंचे है। चीन के लिए रवाना होने से पहले एक वीडियो जारी कर शाह महमूद क़ुरैशी ने कहा वह चीन की ‘बहुत महत्वपूर्ण यात्रा’ पर जा रहे हैं और यात्रा से पहले प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ उनकी चर्चा हुई।

क़ुरैशी ने कहा, उन्हें उम्मीद है कि चीन के विदेश मंत्री वांग यी के साथ मेरी मुलाकात दोनों देशों के लिए फायदेमंद साबित होगी। इस यात्रा के दौरान कुरैशी चीनी विदेश मंत्री वांग यी के साथ मुलाकात करेंगे। कुरैशी ने कहा, ‘इस यात्रा का मकसद पाकिस्‍तान के राजनीतिक और सैन्‍य नेतृत्‍व के लक्ष्‍य को दिखाना है।’

हिंदुस्‍तान टाइम्‍स की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्‍तानी विदेश मंत्री सैन्‍य सहयोग समेत तीन सूत्री योजना को लेकर चीन पहुंचे हैं। इससे पहले पीपल्‍स ल‍िबरेशन आर्मी ने पिछले साल अगस्‍त महीने में पाकिस्‍तान की सेना के साथ रक्षा सहयोग और क्षमता निर्माण संबंधी समझौता किया था।

पाकिस्‍तानी सेना पीएलए के साथ अपने रिश्‍तों को और ज्‍यादा मजबूती देना चाहती है और वह एक संयुक्‍त सैन्‍य आयोग बनाना चाहती है। पाकिस्‍तानी सेना के इस प्‍लान के पीछे उद्देश्‍य यह है कि दोनों ही सेनाओं के बीच रणनीतिक फैसले लिए जा सके। इससे पीएलए और पाकिस्‍तानी सेना एक साथ आ जाएगी।

इससे पहले एक इंटरव्यू में पाक पीएम इमरान खान ने कहा कि यह स्पष्ट हो जाना चाहिए कि पाकिस्तान का भविष्य चीन के साथ जुड़ा हुआ है। उन्होने कहा, ‘चीन पाकिस्तान का बहुत पुराना दोस्त है और उसने हर अच्छे-बुरे वक़्त में पाकिस्तान का विश्व स्तर पर साथ दिया है।’

इमरान ख़ान ने कहा, चीन की अर्थव्यवस्था दुनिया में सबसे बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था है और ये पाकिस्तान की ख़ुशक़िस्मती है, हम चीन के साथ अपने संबंध को मज़बूत कर रहे हैं। चीन को भी पाकिस्तान की बड़ी ज़रूरत है और चीन पाकिस्तान की अहमियत को जानता है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE