निजामुद्दीन मरकज मामले में 122 मलेशियाई नागरिकों को मिली जमानत

वीजा से जुड़ी शर्तों के उल्लंघन पर निजामुद्दीन मरकज मामले में 122 मलेशियन नागरिकों को साकेत कोर्ट ने जमानत दे दी है। कोर्ट ने सभी को 10 हजार रुपए के निजी मुचलके पर अंतरिम जमानत दी है।

मलेशियाई नागरिकों ने अपनी गलती मानते हुए कम सजा का अनुरोध वाली याचिका (प्लिया फॉर बारगेनिंग) के जल्द निपटारे के आवेदन भी दिए थे जिन्हें मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट सिद्धार्थ मलिक की अदालत में 8 जुलाई को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया गया था।

जज ने अपने आदेश में कहा, ‘साउथ-ईस्ट मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट सिद्धार्थ मलिक को दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के आलोक में सभी आरोपियों की याचिकाओं की जल्द सुनवाई वाले आवेदन को निपटाने का निर्देश दिया जाता है।’ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये सभी आरोपी पेश हुए थे।

इस दौरान क्राइम ब्रांच के अधिकारी आरोपियों के शिनाख्त के लिए मौजूद थे। मलेशिया हाई कमीशन के अधिकारी ने भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आरोपियों की पहचान की थी।

बता दें कि मार्च के आखिर में प्रतिबंधों के बाद भी दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात ने सालाना जलसे का आयोजन किया था, जिसमें कई विदेशी नागरिक भी शामिल हुए थे। इस दौरान मरकज की बिल्डिंग में ही कई लोग कोरोना पॉजिटिव मिले थे।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE