No menu items!
24.1 C
New Delhi
Monday, November 29, 2021

कम हो रही नौकरियों पर RBI के पूर्व गवर्नर ने जताई बड़ी चिंता

भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने नौकरियों के लगातार कम होते अवसरों पर बड़ी चिंता जताई है.

कोच्चि में डिजिटल वर्ल्‍ड को लेकर आयोजित एक कार्यक्रम में जन ने तेजी से बदलती प्रौद्योगिकी के साथ चलने के लिए देश में विश्वस्तरीय शैक्षिक और कौशल विकास केंद्र स्थापित करने की जरूरत पर बल दिया है. उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में दुनिया में जो हो रहा है उससे भारत को डरने की नहीं बल्कि खुद को तैयार करने की जरूरत है. हमें नई प्रौद्योगिकी और प्रतिस्पर्धा को अपनाने की जरूरत है.

राजन ने कहा, ‘भारत में पश्चिमी देशों की तरह नौकरियां नहीं हैं, जिनके जाने का खतरा है. हमारे पास नौकरियां हैं ही नहीं जिसे गंवाया जाए. पहले तो हमें नौकरियां लानी होंगी.’ पूर्व गवर्नर ने कहा कि देश के लोगों में अपनी क्षमता को बढ़ाने तथा नई तकनीक को सीखने की जबरदस्त भूख है. ग्रामीण क्षेत्र के लोग बच्चों को बेहतर शिक्षा देना चाहते हैं. बदलती दुनिया के अनुरूप लोगों को तैयार करने के लिए देश में विश्वस्तर के शिक्षा संस्थान और कौशल विकास के केंद्र स्थापित होने चाहिए.

डिजिटल और रोबोटिक प्रौद्योगिकी से रोजगार खत्म होने के खतरे का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि यह खतरा तो है, लेकिन उतना बड़ा नहीं जितना बताया जा रहा है पर हम इसे अनदेखा भी नहीं कर सकते. औद्योगिक क्रांति के समय से ही कहा जाता रहा है कि मशीनें आदमी का स्थान ले लेंगी, लेकिन आज भी लोगों को काम मिल रहा है. उसका स्वरूप अवश्य बदल गया है.

इससे पहले राजन ने रोजगार के नए अवसरों के सृजन को लेकर चिंता जताई थी. उन्‍होंने कहा था कि 7.5 फीसद की वृद्धि दर से रोजगार के पर्याप्‍त अवसर मुहैया नहीं कराए जा सकते हैं. भारत में सालाना तकरीबन सवा करोड़ लोग रोजगार पाने की श्रेणी में शमिल हो रहे हैं, लेकिन उनके लिए रोजगार के पर्याप्‍त अवसर मौजूद नहीं हैं.

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Get in Touch

0FansLike
3,033FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Posts

error: Content is protected !!