Home राष्ट्रिय गोगोई नहीं बने चीफ जस्टिस तो सभी शक होंगे सही साबित: जस्टिस...

गोगोई नहीं बने चीफ जस्टिस तो सभी शक होंगे सही साबित: जस्टिस चेलमेश्वर

144
SHARE

जनवरी में मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ ऐतिहासिक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मौर्चा खोलने वाले 4 जजों में शामिल जस्टिस चेलमेश्वर ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि अगर जस्टिस दीपक मिश्रा के बाद जस्टिस रंजन गोगोई को देश का मुख्य न्यायाधीश नहीं बनाया जाता है तब समझ लीजिएगा कि जो शक जताए गए थे. वे सही साबित होंगे.

मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग को लेकर उन्होंने कहा, महाभियोग हर समस्या का जवाब नहीं हो सकता और प्रणाली को सही किए जाने की जरूरत है. साथ ही ये भी कहा कि वह अपनी सेवानिवृत्ति के बाद सरकार से कोई नियुक्ति नहीं मांगेंगें. उन्होंने कहा, ‘मैं यह रिकार्ड में कह रहा हूं कि 22 जून को अपनी सेवानिवृत्ति के बाद मैं सरकार से कोई नियुक्ति नहीं मांगूगा.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बता दें कि जस्टिस दीपक मिश्रा का कार्यकाल इस साल 2 अक्टूबर को समाप्त हो रहा है. वरिष्ठता के लिहाज से उनके बाद जस्टिस रंजन गोगोई को चीफ जस्टिस बनाया जाना चाहिए क्योंकि दूसरे नंबर पर आने वाले जस्टिस चेलमेश्वर उससे पहले ही 22 जून को रिटायर हो रहे हैं.

chelameshwar

न्यायमूर्ति चेलमेश्वर ने कहा कि 12 जनवरी को उन्होंने जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एमबी लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसेफ के साथ जो संवाददाता सम्मेलन किया था, वह रोष और सरोकार का नतीजा था क्योंकि शीर्ष न्यायालय के कामकाज के बारे में उनकी तरफ से उठाए गए मुद्दों पर मुख्य न्यायाधीश के साथ उनकी चर्चा का वांछित नतीजा नहीं निकल पाया था.

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें आशंका है कि जस्टिस गोगोई (जो नवंबर 2017 में सीजेआई को लिखे पत्र का हिस्सा थे) को अगले सीजेआई के रूप में पदोन्न्त नहीं किया जाएगा? जस्टिस चेलमेश्वर ने कहा कि उन्हें आशा है कि ऐसा नहीं होगा और यदि ऐसा होता है तो यह साबित हो जाएगा कि 12 जनवरी की प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने जो कहा था वह सही था. हालांकि उन्होंने कहा, ‘मैं ज्योतिषी नहीं हूं …

Loading...