Home राष्ट्रिय धार्मिक स्वतंत्रता पर लगाई जा रही रोक, मुस्लिमों को अलग देश के...

धार्मिक स्वतंत्रता पर लगाई जा रही रोक, मुस्लिमों को अलग देश के लिए सोचना होगा: मुफ्ती नासिर-उल-इस्लाम

2841
SHARE

जम्मू-कश्मीर के डिप्टी ग्रैंड मुफ्ती नासिर-उल-इस्लाम ने देश मे मुस्लिमों पर बीजेपी और संघ परिवार की और से एक के बाद एक लगाई जा रही कथित पाबंदियों का हवाला देकर देश के विभाजन की बात कही है।

शरिया अदालतें (दारुल कजा) के मुद्दे पर उन्होने कहा, बीजेपी को शरिया मामलों मे मुसलमानों को अकेला छोड़ देना चाहिए। उन्होने कहा, अगर बीजेपी को मुस्लिमों से परेशानी है तो उन्हें हमें अकेला छोड़ देना चाहिए। भारत में करीब 20 करोड़ मुस्लिम आबादी है। जिनसे उनकी मजहबी आजादी नहीं छिनी जा सकती।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मुफ्ती नासिर-उल-इस्लाम ने कहा, मुसलमानों को कभी लव जिहाद के नाम पर, कभी गौरखा के नाम पर,  कभी तीन तलाक के नाम पर परेशान किया रहा है। देश में एक बार फिर से विभाजन के हालात बन रहे है। अगर हालात यह ही रहे तो मुस्लिमों को अलग देश की मांग कर देनी चाहिए। उन्होने कहा कि अब वक्त आ भी चुका है।

मुफ्ती नासिर-उल-इस्लाम कह रहे हैं मुसलमानों भारत के अंदर अलग देश बना लो | The Lallantop

मुफ्ती नासिर-उल-इस्लाम कह रहे हैं मुसलमानों भारत के अंदर अलग देश बना लो

Posted by The Lallantop on Tuesday, July 10, 2018

डिप्टी ग्रैंड मुफ्ती ने कहा, मुस्लिमों को बहुत पहले ही ये काम कर देना चाहिए था। अगर बीजेपी को कोई ऐतराज है तो या किसी और को कोई ऐतराज है तो ये नहीं होना चाहिए तो हम उन्हे कहते है कि ठीक है अगर आप हमारे साथ नहीं रहना चाहते है तो आप हमे मंजूर नहीं करते है तो आप अपने रास्ते पर चलिये हम अपने रास्ते पर जाये।

उन्होने कहा कि बीजेपी को शरिया कोर्ट मंजूर नहीं है तो ये आने वाले दिनों की बँटवारे की निशानी है। उन्होने कहा, मुसलमान दुनिया मे कही पर भी रहे वह इस्लामी कानून का ही पाबंद है।

Loading...