जामिया में बोले नजीब जंग – CAA में मुसलमानों को भी जोड़ों वरना सभी को हटाओ

सोमवार को दिल्ली के पूर्व उपराज्‍यपाल (एलजी) नजीब जंग दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के बाहर नागरिकता संशोधन कानून ( CAA) के विरोध-प्रदर्शन में शामिल हुए और उन्होंने प्रदर्शनकारियों को संबोधित किया।

जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के वाइंस चांसलर रह चुके नजीब जंग ने कहा कि या तो मुस्लिमों को भी इसमें शामिल किया जाए या फिर औरों को भी हटाया जाए। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि नागरिकता कानून में एक सुधार की जरूरत है। उन्हें या तो मुसलमानों को शामिल करना चाहिए या अन्य नामों को हटाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि इसे समावेशी बनाएं, मामला खारिज हो जाएगा। अगर पीएम इन लोगों को बुलाते हैं और बातचीत करते हैं, तो मामला सुलझ जाएगा। जंग ने कहा कि बातचीत होनी चाहिए तभी कोई समाधान निकलेगा। उन्होंने कहा कि दुकानें बंद हैं और बसें नहीं चल रही हैं जिससे अर्थव्यवस्था को नुकसान हो रहा है।

सीएए को लेकर मचे बवाल के बीच कुछ दिन पहले देश भर के 106 पूर्व नौकरशाहों ने इस पर सवाल उठाए थे। जिसमे नजीब जंग, तत्कालीन कैबिनेट सचिव के. एम. चंद्रशेखर और पूर्व मुख्य सूचना आयुक्त वजाहत हबीबुल्ला शामिल हैं।

पत्र में लिखा गया कि राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर), नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) की जरूरत नहीं है। यह एक व्यर्थ की कवायद है. पत्र में कहा गया कि इन कानूनों से लोगों को परेशानी ही होगी।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]