केजरीवाल सरकार ने अपने विज्ञापन में सिक्किम को दिखाया अलग देश, मचा बवाल

कोरोना वायरस के संकट के बीच केजरीवाल सरकार ने समाचार पत्रों में दिये अपने विज्ञापन के जरिये बड़ा विवाद पैदा कर दिया है। दरअसल, एक विज्ञापन में सिक्किम को भारत से अलग दिखाया गया है। इसे लेकर विपक्षी भाजपा और कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी की सरकार पर करारा हमला बोला।

केजरीवाल सरकार ने विज्ञापन वापस ले लिया है। वहीं इस मामले में एक अफसर को सस्पेंड कर दिया गया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मामले में सफाई देते हुए कहा है कि सिक्किम भारत का अभिन्न अंग है और इस तरह की गलती को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। हमने विज्ञापन वापस ले लिया है और ऐसी गलती करने वाले अधिकारी को निलंबित कर दिया है।

दिल्ली के उपराज्यपाल ने भी मामले में ट्वीट करते हुए कहा कि नागरिक सुरक्षा निदेशालय (मुख्यालय) के एक वरिष्ठ अधिकारी को एक विज्ञापन प्रकाशित करने के लिए तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है, जो सिक्किम को पड़ोसी देशों के समान गलत संदर्भ देकर भारत की क्षेत्रीय अखंडता का अपमान करता है।

दूसरी और सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने ट्वीट कर कहा, ‘सिक्किम भारत का एक हिस्सा है। दिल्ली सरकार से इस मुद्दे को सुधारने का अनुरोध करता हूं।’ सिक्किम के सीएम प्रेम सिंह ने कहा, ‘दिल्ली सरकार के जरिए विभिन्न प्रिंट मीडिया में प्रकाशित इस विज्ञापन में सिक्किम के साथ-साथ भूटान और नेपाल जैसे देशों का उल्लेख है। सिक्किम 1975 से भारत का हिस्सा रहा है और एक सप्ताह पहले ही राज्य दिवस मनाया गया है।’

बता दें कि शनिवार को अखबारों में प्रकाशित नागरिक सुरक्षा स्वयंसेवकों की भर्ती के विज्ञापन में अर्हता के स्तंभ में ‘‘भारत के नागरिक या सिक्किम, या भूटान या नेपाल के नागरिक या दिल्ली के निवासी” दिया गया है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE