दिल्ली हिं’सा पर बोले UN महासचिव – हालात पर हमारी पैनी नजर, आज महात्मा गांधी की सख्त जरूरत

राजधानी दिल्ली में मुस्लिम विरोधी हिं’सा को लेकर संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस का कडा बयान आया है। जिसमे कहा गया कि सोमवार से बुधवार तक जिस तरह से हिं’सा को अंजाम दिया गया उसके जख्म दशकों तक लोग भूल नहीं पाएंगे। इसके साथ ही उन्होने कहा, वह हालात पर नजर बनाए हुए है।

गुटेरस के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस नई दिल्ली पर लगा’तार नजर बनाए हुए हैं। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस नई दिल्ली पर नजर बनाए हुए हैं जहां नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर जमकर हिंसा हुई। इस हिं’सा में अब तक 38 लोगों की मौ’त हो चुकी है।

उन्होंने कहा, “संरा महासचिव अपने जीवन में महात्मा गांधी की शिक्षाओं से बहुत प्रभावित रहे हैं और मौजूदा समय में गांधी जी की विचारधारा की सबसे अधिक जरूरत है और यह समाज में मेल-मिलाप बनाये रखने का माहौल उत्पन्न करने के लिए आवश्यक है।” वहीं इससे पहले संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद प्रमुख मिशेल बाचेलेत जेरिया ने भी दिल्ली हिं’सा पर अपनी चिं’ता जाहीर की। उन्होने कहा कि मुसल’मानों पर ह’मला किए जाने पर पुलिस द्वारा कार्रवाई न करने की ख़बरों को लेकर चिं’तित हूं।

उन्होने कहा, भारत में बीते दिसंबर में लाया गया नागरिकता संशोधन क़ानून मुख्य तौर पर चिंता का विषय है। सभी समुदायों से संबंध रखने वाले भारतीयों ने बड़ी संख्या में, अधिकतर शांतिपूर्ण ढंग से इस कानून का विरोध किया है और देश में ध’र्मनिरपेक्ष’ता के लंबे इतिहास का पक्ष लिया है।

उन्होने आगे कहा, शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर पुलिस द्वारा अतिरिक्त बल प्रयोग किए जाने की पहले की ख़बरों और अन्य समूहों द्वारा मुस’लमानों पर ह’मला किए जाने पर पुलिस द्वारा कार्रवाई न करने की ख़बरों को लेकर चिं’तित हूं। अब बात बढ़कर बड़े पैमाने पर सांप्रदायिक हम’लों में तब्दील हो गई है और 23 फ़रवरी से लेकर अब तक 34 लोगों की मौ’त हो चुकी है। मैं सभी राजनेताओं से अपील करती हूं कि हिं’सा को रोकें।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]