सरकार की ओर से किसानों के साथ बैठक की अगुवाई करेंगे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह

अपनी मांगों को लेकर सड़कों पर डटे किसानों से बातचीत के लिए केंद्र सरकार ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को आगे किया है। सरकार की ओर से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बातचीत की अगुवाई करेंगे।

कृषि कानून के खिलाफ जारी प्रदर्शन को देखते हुए केंद्र सरकार ने किसानों से बातचीत के लिए दोपहर तीन बजे का समय तय किया है। उससे पहले आज सुबह 10.30 बजे बीजेपी अध्ययक्ष जेपी नड्डा के घर एक अहम बैठक होने रही है। बीजेपी के बड़े नेता बैठक में शामिल होंगे, ताकि किसानों संग वार्ता का रोडमैप तैयार किया जा सके।

बैठक दोपहर दोपहर 3 बजे विज्ञान भवन, नई दिल्ली में रखी गई है। इस बैठक में उन सभी संगठनों को निमंत्रण दिया गया है, जिन्हें पिछ्ली बैठक में बुलाया गया था। ठंड व कोविड को देखते हुए यह वार्ता जल्दी रखी गई है, ताकि किसान संगठनों के सदस्यों को परेशानी नहीं हो।

दूसरी ओर किसान संगठनों की ओर से कहा जा रहा है कि देश में 500 से ज्यादा किसान संगठन है। सिर्फ 32 संगठनों को ही क्यों बुलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जब तक सभी संगठनों के प्रतिनिधियों को नहीं बुलाया जाता है तब तक बातचीत का कोई फायदा नहीं है। वो तब तक दिल्ली की सड़कों और बॉर्डर पर डटे रहेंगे।

किसानों का कहना है कि MSP और मंडी के मुद्दे पर उन्हें लिखित गारंटी चाहिए। किसान संगठनों को डर है कि नया कानून जैसे ही जमीन पर उतरेगा, MSP धीरे-धीरे खत्म होने लगेगी। यही कारण है कि MSP हमेशा के लिए बनी रहे, वो इस बात को कानून में शामिल करवाना चाहते हैं।