चीन के साथ तनाव के बीच घाटी में LPG स्टॉक करने के आदेश, स्कूलों को भी कराया जा रहा खाली

श्रीनगर. पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीन के हाथों 20 जवानों की शहा’दत के बाद तनाव गहराता ही जा रहा है। इसी बीच जम्मू कश्मीर में खाद्य आपूर्ति और उपभोक्ता मामलों के विभाग ने एलपीजी सिलेंडर का स्टॉक करने के आदेश दिये है। इसके अलावा सुरक्षाबलों के लिए स्कूल को खाली करने का आदेश भी दिया गया है।

इन आदेशों के सामने आने के बाद लोगों में चिंता बढ़ती हुई दिखाई दे रही है। इनमें एक आदेश में कश्मीर में लोगों से कम से कम दो महीने के लिए एलपीजी सिलेंडर का स्टॉक करने के लिए कहा गया है। वहीं  दूसरे आदेश के मुताबिक गांदरबल में सुरक्षाबलों के लिए स्कूल की इमारतों को खाली करने के आदेश दिए गए हैं।

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला (OmarAbdullah) ने इस तरह के कदम की आवश्यकता पर सवाल उठाया है और कहा कि इस तरह के आदेश दहशत का माहौल पैदा करते हैं। अब्दुल्ला ने केंद्रीय बलों के ठहरने का प्रावधान करने के लिए गांदरबल जिला पुलिस की एक और विज्ञप्ति का हवाला दिया और कहा कि इस तरह के आदेश कश्मीर में दहशत पैदा करते हैं और हम सरकार से स्पष्टीकरण की मांग करते हैं।

हालांकि सरकार ने इस मुद्दे पर सफाई देते हुए कहा कि लोगों के बीच गलत जानकारी फैलाई जा रही है। जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने कहा कि मानसून के दौरान भारी बारिश के चलते बार-बार हाईवे के अवरुद्ध होने के चलते सिलेंडरों के स्टॉक का ये आदेश दिया गया है।

एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा, ‘ हम सभी जानते हैं कि बारिश के दिनों में राष्ट्रीय राजमार्ग-44 रामबन-जवाहर टनल के बीच प्रभावित रहता है। मौजूदा समय में हम कश्मीर में करीब एक महीने का स्टॉक रखकर चलते हैं। हमने एलपीजी कंपनियों को करीब दो महीने का स्टॉक रखने की संभावनाओं पर विचार करने का अनुरोध किया है ताकि अगले तीन महीने तक बारिश अथवा अन्य कारणों के चलते राजमार्ग बंद होने की सूरत में लोगों के बीच अफरा-तफरी का माहौल नहीं बने।’


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE