मोदी के लॉक डाउन के बीच धार्मिक प्रयोजन में शामिल हुए CM योगी आदित्यनाथ

कोरोना वायरस के डर के बीच जारी पीएम मोदी के द्वारा घोषित किए गए लॉक डाउन के बुधवार को नवरात्रि के पहले दिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या पहुंचे और श्रीरामजन्मभूमि पर भव्य राममंदिर निर्माण के प्रथम चरण का अनुष्ठान में शामिल हुए।

इस दौरान, CM योगी आदित्यनाथ ने मंदिर के निर्माण के लिए 11 लाख रुपये का चेक भी दिया. योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा- “अयोध्या करती है आह्वान… भव्य राम मंदिर के निर्माण का पहला चरण आज सम्पन्न हुआ, मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम त्रिपाल से नए आसन पर विराजमान… मानस भवन के पास एक अस्थायी ढांचे में ‘रामलला’ की मूर्ति को स्थानांतरित किया। भव्य मंदिर के निर्माण हेतु ₹11 लाख का चेक भेंट किया।”

बता दें कि प्रधानमंत्री ने कोरोनावायरस के खतरे के देखते हुए देशभर में बुधवार से बंदी का ऐलान किया है। करीब 15-20 लोग इस दौरान मौजूद रहे। अयोध्या प्रशासन ने दो अप्रैल तक तीर्थस्थल में प्रवेश पर रोक लगा दी है। वहीं उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 35 पहुंच चुकी है।

CM योगी आदित्यनाथ के अनुष्ठान में शामिल होने पर यूपी कांग्रेस चीफ अजय कुमार लल्लू ने सवाल उठाते हुए कहा, ‘नवरात्रि का पहला दिन है। मां के दरबार में दर्शन के लिए जाने की मेरी भी इच्छा है। हालांकि, मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की बात मानी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी बात नहीं मानते। भीड़ के साथ दर्शन कर रहे हैं तो ऐसे में कैसे यूपी की जनता पीएम की बात माने?’

इस पर योगी कैबिनेट में मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा, ‘रामलला को अस्थायी मंदिर में शिफ्ट किया जाना भी जरूरी था। यह कार्यक्रम पहले से तय था। बतौर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने कर्तव्य का निर्वहन किया है। मैं नहीं मानता कि उन्होंने कुछ भी गलत किया। वह तड़के वहां पहुंचे। उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन किया। इसके साथ ही सीएम योगी उत्तर प्रदेश की जनता को कोरोना वायरस से सुरक्षित रखने के लिए हर एक अहम निर्णय ले रहे हैं।’


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE