पादरी ने मुस्लिमों के खिलाफ दिया भाषण तो विरो’ध में ईसाई नन ने प्रार्थना छोड़ी

0
1571

पादरी द्वारा की गई मुस्लिम वि’रोधी टिप्पणियों के विरो’ध में ईसाई ननों के एक समूह ने रविवार को एक प्रार्थना सभा से वाकआउट कर दिया। बता दें कि हाल ही में विकास पाला बिशप द्वारा ‘नार’कोटिक्स जि’हाद’ टिप्पणियों को लेकर केरल के लोगों में काफी गुस्सा देखने को मिल रहा है।

असंतुष्ट नन ने पादरी पर कुराविलंगड में सेंट फ्रांसिस मिशन के घर के अंदर एक प्रार्थना सभा के दौरान अभद्र भाषा बोलने का आरोप लगाया। उनके अनुसार, पादरी ने सेवा में उपस्थित लोगों को मुसलमानों द्वारा चलाए जा रहे व्यावसायिक उद्यमों का बहिष्कार करने का सुझाव दिया।

विज्ञापन

रविवार के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पादरी राजीव ने कथित तौर पर कहा कि वे मुस्लिम-स्वामित्व वाली दुकानों से उत्पाद न खरीदें और बिरयानी जैसे खाद्य पदार्थ न खाएं। उन्होंने पाला बिशप की “नार’कोटिक्स जि’हाद” टिप्पणियों का भी समर्थन किया।

प्रार्थना छोडने वाली ननों में अनुपमा केलमंगलथुवेलीयिल, अल्फी पल्लासेरिल, एंकिट्टा उरुंबिल और जोसेफिन विलूनिकल आदि शामिल है। उन्होंने लोगों से ‘लव जि’हाद और ना’रकोटिक जि’हाद’ पर मार जोसेफ कल्लारंगट के बयान का समर्थन नहीं करने के लिए कहा।

सिस्टर अनुपमा को द न्यूज मिनट को बताया, पादरी ने भाषण में कहा कि सब्जियों जैसी चीजें मुसलमानों से नहीं खरीदी जानी चाहिए और उनके ऑटोरिक्शा में यात्रा न करें। यह पहली बार नहीं है जब उन्होंने इस तरह की टिप्पणी की है। इससे पहले भी, उन्होंने मुसलमानों के बारे में इसी तरह की टिप्पणी की थी।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here