आंदोलन के बीच कृषि मंत्री बोले – किसानों से बातचीत के लिए तैयार है सरकार

संसद से पारित कृषि संबंधी कानूनों के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानो से बातचीत को लेकर केंद्र सरकार तैयार है। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने इस बात की जानकारी दी।

कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने शुक्रवार को कहा कि सरकार उनके साथ सभी मुद्दों पर चर्चा करने के लिए तैयार है। हमने उन्हें तीन दिसंबर को बातचीत के लिए बुलाया है। मुझे उम्मीद है कि किसान संगठनों के नेता बैठक में आएंगे।

इस दौरान उन्होंने राजनीतिक दलों से किसानों के नाम पर राजनीति नहीं करने का आग्रह किया है। उन्होने किसानो से कहा, वे सरकार पर भरोसा बनाएं रखें। सरकार किसानों से हर मुद्दे पर बातचीत कर उनकी समस्या का समाधान निकालने को तैयार है। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लिए प्रतिबद्ध है और इस दिशा में आगे बढ़ रही है।

तोमर की ओर से यह घोषणा दिल्ली पुलिस द्वारा किसानों को राष्ट्रीय राजधानी में आने की अनुमति देने के बाद आई। इससे पहले, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भी किसानों से इसी तरह की अपील की। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने दिल्ली पहुंचे किसानों से कहा कि वे आंदोलन का रास्ता छोड़ दें।

खट्टर ने अपील करते हुए कहा, मेरे सभी किसान भाइयों से अपील है कि वे अपनी सभी जायज मुद्दों के लिए सीधे केन्द्र से बातचीत करें। आंदोल इसका जरिया नहीं है। इसका हल बातचीत से ही निकलेगा।