Home महाराष्ट्र अब महाराष्ट्र के औरंगाबाद में दो लोगों की पीट-पीटकर हत्या

अब महाराष्ट्र के औरंगाबाद में दो लोगों की पीट-पीटकर हत्या

104
SHARE

झारखंड में मवेशी चोरी के आरोप में दो लोगों की पीट-पीट कर हत्या कर देने के बाद अब महाराष्ट्र के औरंगाबाद में भी भीड़ ने दो लोगों की पीट-पीट कर हत्या कर दी है। ये हत्या सोशल मीडिया पर फैलाए जा रहे फर्जी संदेशों पर यकीन कर की गई।

पुलिस के मुताबिक, ज़िले के वैजापुर तालुका के चंदगांव गांव में आठ जून को लुटेरे होने के संदेह में ग्रामीणों की एक भीड़ ने दो लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी और सात अन्य जख्मी हो गए।  घायलों में एक की हालत नाज़ुक बताई जा रही है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पुलिस ने कहा कि कम से कम 1,500 ग्रामीणों की भीड़ ने डंडों से नौ लोगों पर हमला कर दिया। ग्रामीणों ने बीते शुक्रवार की सुबह गांव के एक खेत के पास इन लोगों को पकड़ा था। वैजापुर पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि ‘लुटेरों के गिरोह’ की मौजूदगी के कुछ फर्जी मेसेज वॉट्सऐप पर फैलाए जा रहे थे और इन्हीं अफवाहों की वजह से यह घटना हुई।

सहायक पुलिस इंस्पेक्टर राम हरि यादव ने कहा, ‘अफवाहें फैलने के बाद ग्रामीण रात के वक्त चौकसी बरत रहे थे।’ उन्होंने कहा कि एक ग्रामीण ने जब पुलिस को सूचना दी कि उन्होंने ‘लुटेरों के एक गिरोह’ को पकड़ा है, तब पुलिस मौके पर पहुंची।

यादव ने बताया कि पुलिस के गांव पहुंचने पर उन्होंने नौ लोगों को जमीन पर पड़े देखा. उन्हें बुरी तरह पीटा गया था। इन नौ लोगों को गांव से 70 किलोमीटर दूर औरंगाबाद में सरकारी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल ले जाने से पहले पुलिस उन्हें वैजापुर के ग्रामीण अस्पताल ले गई थी।

यादव ने बताया कि दो घायलों ने तो नौ जून को ही दम तोड़ दिया जबकि एक अन्य व्यक्ति ज़िंदगी-मौत के बीच जूझ रहा है। उन्होंने कहा कि मृतकों की पहचान भरत सोनावने और शिवाजी शिंदे के रूप में हुई है।  पुलिस ने इस मामले में हत्या और हत्या की कोशिश के आरोपों में 400 से ज़्यादा ग्रामीणों पर मामला दर्ज किया है। लेकिन अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

बता दें कि इससे पहले झारखंड के गोड्डा ज़िले के देवटांड़ थाना क्षेत्र के बनकट्टी गांव मे मवेशी चोरी के फर्जी संदेशों के आधार पर सिराबुद्दीन अंसारी और मुर्तजा नामक दो युवकों को पीट-पीट कर मार डाला। ये दोनों तलझारी और बांझी गांव के रहने वाले थे।

Loading...