तुर्की ने बनाया व्हाट्सऐप की जगह अपना ऐप, पूरी दुनिया में हो रही वाहवाही

तुर्की के प्रतिस्पर्धा प्राधिकरण ने सोमवार को फेसबुक और व्हाट्सएप पर एक जांच खो’ली और अपने नए डेटा-शेयरिंग नियमों को निलं’बित कर दिया। ऑनलाइन इंस्टेंट मैसेजिंग एप्लिकेशन व्हाट्सएप ने पिछले सप्ताह अपने उपयोगकर्ताओं को फेसबुक कंपनियों के साथ व्यक्तिगत डेटा साझा करने के लिए नए गोपनीयता नियमों को स्वीकार करने के लिए मजबूर किया।

अथॉरिटी ने एक बयान में कहा, जब तक शर्तों को स्वीकार नहीं किया जाता, तब तक ऐप का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता था। रिपोर्टों के अनुसार, तुर्की के अधिकारियों ने डेटा साझा करने की नई नीति को निलं’बित कर दिया है, भले ही उपयोगकर्ता नए नियमों से सहमत हो गए हों, जांच के निष्कर्ष तक, अपूरणीय नुकसान की संभावना के कारण। इस संदर्भ में, फेसबुक को भी डेटा शेयरिंग को निलं’बित करना चाहिए और सभी उपयोगकर्ताओं के लिए अपने कदम की घोषणा करनी चाहिए, बयान में कहा गया है।

व्हाट्सएप की नई सेवा की शर्तें और गोपनीयता नीति, जो 8 फरवरी से लागू होगी, ने उपयोगकर्ताओं को या तो इसकी सेवा की शर्तों और गोपनीयता नीति में बदलावों को स्वीकार करने के लिए कहा है या उनके खातों को ह’टा दिया जाएगा। मैसेजिंग प्लेटफ़ॉर्म डेटा इकट्ठा करेगा जिसमें कुछ परिस्थितियों में खाता जानकारी, पता पुस्तिका जानकारी, स्थिति की जानकारी, लेनदेन और भुगतान डेटा, ग्राहक सहायता संचार और संदेश शामिल हैं।

कंपनी के अनुसार, संदेश केवल आपके डिवाइस पर संग्रहीत होते हैं, न कि कंपनी सर्वर पर। हालांकि, व्हाट्सएप की नीति ने हमेशा कहा है कि वह फेसबुक के साथ जानकारी साझा करती है। यह पहली बार नहीं है जब व्हाट्सएप गोप’नीयता की चिं’ताओं का सामना कर रहा है। हालांकि, 2016 के बाद से, व्हाट्सएप ने एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन सक्षम किया है, जिसका मतलब है कि संदेश और कॉल सामग्री व्हाट्सएप के लिए पठनीय नहीं है।