कभी था गरीब देश, आज दुनिया के अमीर देशों में शामिल, इस तरह बदली कतर की किस्मत

0
370

कतर में 20 नवंबर 2022 से फीफा वर्ल्ड कप 2022 की शुरुआत हो जाएगी. कतर ने विश्व कप की मेजबानी को लेकर काफी तैयारियां कर रखी हैं. क्योंकि फुटबॉल दुनिया के अधिकतर देशों में प्रचलित है, ऐसे में पूरी दुनिया में इस समय विश्व कप के साथ ही लोगों की जुबान पर कतर का नाम भी आ रहा है. कई लोग इस छोटे से देश के बारे में जानना चाह रहे हैं. बहुत कम लोग जानते हैं कि फीफा वर्ल्ड कप का आयोजन करने वाला कतर कभी बेहद गरीब था, लेकिन आज इस देश की गिनती अमीर देशों में होती है. इस मिडिल-ईस्ट एशिया देश में गरीबी न के बराबर है.

यहां लोगों को इनकम टैक्स भी नहीं देना पड़ता है. आइए जानते हैं कैसे इस देश ने गरीबी से अमीरी तक का सफर तय किया है.
कतर तीन तरफ से समुद्र से तो एक तरफ से सऊदी अरब से घिरा हुआ है. कतर को पहले तुर्की ने तो बाद में ब्रिटेन ने अपना गुलाम बनाया. वर्ष 1971 में कतर ब्रिटेन से आजाद हुआ. आजादी मिलने के बाद देश की स्थिति ठीक नहीं थी. यहां काफी गरीबी थी, लेकिन यहां के शासकों ने इसकी आर्थिक स्थिती को सुधारने के लिए काफी प्रयास किए.

अब स्थिति ये है कि कतर में अमेरिका, दुबई और सऊदी अरब से भी ज्यादा अमीर लोग रहते हैं. यहां का हर तीसरा आदमी करोड़पति है और वह सालाना 94 लाख रुपये तक कमाता है. कतर प्रति व्यक्ति आय के मामले में दुनिया में 5वें नंबर पर है. इस देश की जनसंख्या करीब 28 लाख है. इसमें सिर्फ 12 प्रतिशत यानी लगभग 3,36,000 लोग ही कतर के मूल निवासी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here