काम की तलाश में खाड़ी देश जाने वालों के लिए अलर्ट, इस देश ने प्रवासियों की एंट्री की बन्द

अगर आप खाड़ी देश (Gulf countries) काम की तलाश में या किसी वजह से जाने की प्लानिंक कर रहे हैं तो आपके लिए एक जरूरी खबर है. कुवैत ने अपने यहां विदेशियों की एंट्री पर अगले नोटिस तक के लिए बैन लगा दिया है. खबर के मुताबिक, कुवैत की सिविल एविएशन अथॉरिटी (Civil Aviation Authority) ने सोशल साइट पर इस बात की जानकारी शेयर की है. खलीज टाइम्स की खबर के मुताबिक, कुवैत में बैन को आगे बढ़ा दिया गया है.

स्वास्थ्य अधिकारियों के निर्देशों के आधार पर, अगली नोटिस तक गैर-कुवैती यात्रियों की एंट्री पर बैन को आगे बढ़ाया गया है. हालांकि, इसमें यह कहा गया है कि कुवैती नागरिकों या पैसेंजर्स को एंट्री मिलेगी लेकिन उन्हें पहले सात दिनों के लिए स्थानीय होटलों में क्वारंटीन रहना होगा. साथ ही घर पर और सात दिनों के लिए सेल्फ आइसोलेशन में रहना होगा. खबर के मुताबिक, कुवैत ने कहा कि वह गैर-कुवैती नागरिकों को कुछ नई प्रक्रियाओं के साथ 21 फरवरी से देश में प्रवेश करने की अनुमति दी जाएगी. खबर के मुताबिक, कहा गया है कि जो लोग कोरोना से ज्यादा प्रभावित देशों से कुवैत अपने देश लौटेंगे उन्हें कुल 14 दिनों तक क्वारंटीन रहना है.

संयुक्त अरब अमीरात में फंसे भारतीय नागरिकों को दी मदद (Help to Indian citizens stranded in UAE)

इधर, दुबई में भारत के महावाणिज्य दूतावास ने संयुक्त अरब अमीरात में फंसे भारतीय नागरिकों को फ्री प्रत्यावर्तन टिकट (repatriation tickets) देने का ऑफर किया है. ये भारतीय पैसेंजर सऊदी अरब और कुवैत के लिए फ्लाइट लेने वाले थे लेकिन कोविड ट्रैवल बैन के चलते फंस गए. खलीज टाइम्स के एक अधिकारी के बताया कि टिकट उन लोगों के आधार पर जारी किए जाएंगे जो उन्हें खरीदने का जोखिम नहीं उठा सकते.

टिकट भारतीय समुदाय कल्याण कोष (ICWF) के तहत प्रायोजित किए जाते हैं और उन व्यक्तियों को दिए जाएंगे जिनके पास लौटने का साधन नहीं है. भारतीय सामुदायिक समूह और एयर इंडिया एक्सप्रेस क्रमशः Dh285 और Dh330 (Dh-दिरहम करेंसी) के विशेष समावेशी किराए की पेशकश कर रहे हैं.