Home अन्तर्राष्ट्रीय इन्तजार हुआ खत्म! सितम्बर से शुरू कर दी जाएगी सऊदी में हाई...

इन्तजार हुआ खत्म! सितम्बर से शुरू कर दी जाएगी सऊदी में हाई -स्पीड हरमाइन ट्रेन सर्विस

134
SHARE

सऊदी देश में जिस ट्रेन और ट्रेन की स्पीड की बात काफी समय से हो रही है, वह जल्द ही सऊदी अरब में शुरू कर दी जाएगी. जो हाई स्पीड इलेक्ट्रिक हरमाईन ट्रेन प्रति घंटे 300 किलोमीटर से अधिक की रफ्तार से यात्रा करने के लिए डिज़ाइन की गई है और जिसे मध्य पूर्व में सबसे तेज़ माना जाता है वह जल्द ही सऊदी अरब में आम जनता को सेवा प्रदान करेगी.

सितम्बर के महीने दौड़ेगी ये ट्रेन

स्पैनिश कंसोर्टियम बिल्डिंग ने गुरुवार को कहा की “मक्का और मदीना को जोड़कर एक हाई-स्पीड रेलवे सितंबर में काम शुरू कर देगी.” इस्लाम के सबसे पवित्र शहरों को जोड़ने वाली यह ट्रेन ,जिसे शुरूआती रूप से 2016 के अंत में खोलने के लिए निर्धारित किया गया था,की लागत 210 मिलियन यूरो थी, जिसे सऊदी अरब ने भुगतान करने पर सहमति व्यक्त की थी.”

हज़ तीर्थयात्रियों के लिए सुविधा

सऊदी गैजेट के अनुसार उन्होंने कहा की “यह सितंबर 2019 तक दैनिक सेवा की पेशकश करने से पहले प्रति सप्ताह चार ट्रेनों के साथ सितंबर में परिचालन शुरू कर देगी. 2011 में सऊदी अरब को 12 स्पेनिश कंपनियों और परियोजना के लिए दो सऊदी फर्मों के संघ में 6.7 अरब यूरो (7.1 अरब डॉलर) का कॉन्ट्रैक्ट दिया गया था.  जिसका उद्देश्य वार्षिक हज तीर्थयात्रा के दौरान दोनों शहरों के बीच परिवहन में सुधार करना था.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

यह कॉन्ट्रैक्ट – अब तक की सबसे बड़ी स्पेनिश फर्मों में से एक है – इसका लक्ष्य मक्का और मदीना के बीच 444 किलोमीटर (275 मील) ट्रैक के बिछाने के लिए, 12 साल तक 35 ट्रेनें प्रदान करना था. जब यह खत्म हो जाए, तो रेल लिंक प्रति दिन 166,000 यात्रियों को स्थानांतरित करने में सक्षम होगा.

साथ मिलियन यात्रियों को ले जा सकेगी

वहीं पिछले महीने परिवहन मंत्री अल-अमोदी ने कहा था कि रेलवे 2019 की शुरुआत में पूरी तरह से परिचालित होने तक सालाना 60 मिलियन यात्रियों को ले जा सकेगी. यह 450 किलोमीटर की मुख्य लाइन राजा अब्दुल्ला इकोनॉमिक सिटी के माध्यम से यात्रा करेगी, जिसमें जेद्दाह में नए राजा अब्दुलजाज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (केएआईए) की एक छोटी शाखा रेखा होगी.

अरब न्यूज के अनुसार उन्होंने कहा था की “परिवहन राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था का मुख्य स्तंभ है और आर्थिक पुनर्जागरण का एक प्रमुख चालक है जो सऊदी अरब की विजन 2030 रणनीति के तहत होगा.”