ट्रंप के दौरे से पहले अमेरिकी आयोग ने CAA को बताया मुस्लिमों के खिलाफ पक्षपाती कानून

नई दिल्लीः अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से पहले अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर नजर रखने वाली एजेंसी यूनाइटेड स्टेट्स कमीशन ऑन इंटरनेशनल रिलीजियस फ्रीडम (यूएससीआईआरएफ) ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को मुसलमानों के लिए भेदभावपूर्ण और पक्षपाती करार दिया।

आयोग की नागरिकता कानून पर ‘फैक्टशीट’ नाम से जारी रिपोर्ट में आयोग ने कहा, “नागिरक पंजीयन (NRC) से सिर्फ मुसलमान प्रभावित होंगे जबकि गैर मुस्लिमों को नागरिकता कानून (CAA) के तहत सुरक्षा प्रदान कर दी जाएगी।” उसने आरोप लगाया कि अपने नागरिकों के बीच भारत सरकार का ये भेदभावपूर्ण रवैया बीजेपी की हार्ड कोर राजनीति का नतीजा है।  सरकार CAA लागू कर NRC का भार मुसलानों पर डाल देगी। जिसका अंजाम लंबे समय तक मुसलमानों का डिटेंशन या फिर देश से निर्वासन के रूप में सामने आयेगा।

अमेरिकी आयोग की रिपोर्ट में बीजेपी नेताओं के बयानोों पर भी चिंता जताई गई है। रिपोर्ट में बताया गया है कि बीजेपी के कई नेता अपने देश के मुसलमानों को बाहर निकालने के लिए कैसा मंसूबा बना रहे हैं। उनकी मंशा मुसलमानों के बिना भारत की बात करने से जाहिर होती है। रिपोर्ट में नागरिकता कानून पर संयुक्त राष्ट्र के अंदेशों को भी शामिल किया गया है।

संयुक्त राष्ट्र अपनी रिपोर्ट में नागरकिता कानून को अल्पसंख्यक मुसलमानों के लिए पक्षपातपूर्ण बता चुका है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दौरे से पहले भारत को असहज कर देनेवाली रिपोर्ट के बारे में पूछे जाने पर आयोग से जुड़े एक अधिकारी ने कहा, “हमारी सभी मुद्दों पर अमेरिका की तरफ से स्थिति स्पष्ट है। बार-बार हम स्टेट डिपार्टमेंट, व्हाइट हाउस और कांग्रेस को अपनी संवेदना से आगाह करते रहे हैं। हम समझते हैं राष्ट्रपति का भारत दौरा कामयाब रहेगा और इसमें किसी तरह की समस्या पैदा नहीं होगी।”

यूएससीआईआरएफ ने बुधवार को ट्वीट कर सीएए को भारत में धार्मिक स्वतंत्रता की दिशा से एक बड़ा भटकाव बताया है। यूएससीआईआरएफ द्वारा जारी रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि भारत में धार्मिक उत्पीड़न के मामलों में बढ़ोतरी हुई है।  एजेंसी ने 2019 की इस वार्षिक रिपोर्ट में भारत को टियर-2 की श्रेणी में रखा है। इससे पहले नवंबर 2019 में यूएससीआईआरएफ ने कहा था कि असम में एनआरसी का मकसद धार्मिक अल्पसंख्यकों को निशाना बनाना है और यह मुस्लिमों को राज्यविहीन करने’ का एक साधन है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]