UAE में रहने वाले भारतीय प्रवासियों के लिए बने नए यात्रा नियम, अभी देखलें पूरी लिस्ट

ख़लीज टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक़, 22 फरवरी यानी आज से, भारत में आने वाले सभी अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों के लिए प्री-ट्रैवल पोलीमरेज़ चेन रिएक्शन (पीसीआर) परीक्षण अनिवार्य कर दिया गया है, जिसमें सभी उम्र के बच्चे शामिल हैं।

नई दिल्ली हवाई अड्डे की वेबसाइट, एयर इंडिया के एक अधिकारी, और संयुक्त अरब अमीरात में कई ट्रैवल एजेंटों द्वारा प्रकाशित एक एफएक्यू ने रिपोर्टों की पुष्टि की है और कहा है कि मौजूदा प्रक्रियाओं को भारत सरकार द्वारा उत्परिवर्ती उपभेदों के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए संशोधित किया गया था। भारत के नए यात्रा नियमों के सोमवार 22 फरवरी से लागू होने की उम्मीद है।

यूएई में प्रवासी, विशेषकर उन परिवारों के साथ, जो अपनी यात्रा की योजना पर पुनर्विचार कर रहे हैं, ट्रैवल एजेंटों ने खलीज टाइम्स को बताया। स्मार्ट ट्रैवल्स के प्रबंध निदेशक आफी अहमद ने कहा, “भारतीय प्रवासियों, विशेष रूप से परिवारों के साथ, उच्च यात्रा लागत, जटिल पूर्व यात्रा प्रक्रियाओं और चल रही स्कूल परीक्षाओं के कारण भारत की यात्रा नहीं करने का फैसला कर रहे हैं।”

जबकि संयुक्त अरब अमीरात में Dh150 से Dh190 के बीच पीसीआर परीक्षण में कुछ भी खर्च होता है, यात्रियों को नई दिल्ली हवाई अड्डे पर स्वयं रु .3,400 के शुल्क पर परीक्षण करवा सकते हैं। फीस में परीक्षण और लाउंज शुल्क शामिल हैं, हवाई अड्डे की वेबसाइट पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न।

सिटी वन टूरिज्म की मैनेजिंग डायरेक्टर हेमाली शाह ने कहा कि परिवारों को लागत अधिक लग रही है और चूंकि मौजूदा यात्रा की स्थिति अत्यधिक अस्थिर है, केवल वास्तविक आपा’त स्थिति वाले लोग ही भारत की यात्रा की योजना बना रहे हैं।

शाह ने कहा कि ये कदम जरूरी थे क्योंकि यात्री नियमों की धज्जियां उड़ा रहे थे। शाह ने कहा, “उदाहरण के लिए, जिन यात्रियों का अंतिम गंतव्य महाराष्ट्र है, वे पास के राज्यों में जा रहे थे, उन्होंने एयर सुविधा ऐप को हटा दिया और घरेलू उड़ानें ले रहे थे।” दिसंबर में, ब्रिटिश कोविड -19 संस्करण के प्रकोप के बाद कड़े पूर्व-यात्रा प्रोटोकॉल पेश करने वाला महाराष्ट्र पहला राज्य था। उन्होंने कहा, “सरकार को कार्रवाई करनी होगी ताकि वायरस न फैले।”