तुर्की ने लीबिया के साथ जताई पूर्ण एकजुटता, एर्दोगान बोले – लीबियाई लोगों का कल्याण प्रमुख लक्ष्य

अंकारा में प्रधान मंत्री अब्दुल हमीद दबीबा के साथ बैठक के बाद एक संयुक्त समाचार सम्मेलन में, तुर्की के राष्ट्रपति ने कहा कि नवंबर 2019 में लीबिया के साथ समुद्री समझौते ने दोनों देशों के राष्ट्रीय हितों को सुरक्षित किया।

एर्दोआन ने संवाददाताओं से कहा, “लीबिया की संप्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता, राजनीतिक एकता की रक्षा करना, लीबिया के लोगों का कल्याण तुर्की के प्रमुख लक्ष्य हैं।” एर्दोआन ने उल्लेख किया है कि यू.एन.-मान्यता प्राप्त सरकार (जीएनए) के लिए तुर्की के समर्थन ने खलीफा हफ़्तेर की से’नाओं को राजधानी त्रिपोली से आगे निकलने से रोक दिया है।

उन्होंने आगे कहा कि उन्हें उम्मीद है कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय लीबिया सरकार को अपेक्षित तारीख पर चुनाव कराने के लिए वास्तविक समर्थन प्रदान करेगा। राष्ट्रपति ने यह भी घोषणा की कि तुर्की मंगलवार को लीबिया को टीकों की 150,000 खुराक भेजने की भी घोषणा की।

इस बीच, प्रधानमंत्री दबीबा ने कहा कि उनके देश ने लीबिया में स्थायी सं’घर्ष विराम सुनिश्चित करने में तुर्की की भूमिका के महत्व की पुष्टि की। उन्होंने कहा, “हम त्रिपोली में अगली उच्च स्तरीय रणनीतिक सहयोग परिषद की बैठक आयोजित करना चाहते हैं।”

दोनों देशों द्वारा हस्ताक्षरित संयुक्त बयान में लीबिया की संप्रभुता, स्वतंत्रता, क्षेत्रीय अखंडता, राजनीतिक एकता के संरक्षण के महत्व की पुष्टि की गई है। इसने नोट किया कि देश में एकमात्र वैध नेतृत्व संरचना राष्ट्रपति परिषद और राष्ट्रीय एकता सरकार है।