No menu items!
33.1 C
New Delhi
Monday, September 20, 2021

काबुल में अमेरिकी ड्रोन ह’मले की निष्पक्ष जांच की उठी मांग – उन्होंने हम पर हम’ला किया और हमारे बच्चों को….

- Advertisement -

26 अगस्त को काबुल एयरपोर्ट के गेट पर आई’एसआईएस-के हमले में 13 अमेरिकी सैनि’कों की मौ’त का बदला लेने के लिए लिए किए गए ड्रोन ह’मले को लेकर अमेरिका के खिलाफ निष्पक्ष जांच की मांग उठ रही है।

इस हमले में एक अफगान परिवार के कई सदस्य जो काबुल में अपने घर पर जश्न मनाने के लिए एकत्र हुए थे, ह’मले में मारे गए। एक पल में, रॉ’केट ने सात बच्चों सहित 10 नागरिकों की जा’न ले ली। पीड़ितों में सबसे छोटी दो लड़कियां, मलिका और सुमाया थीं, जो दोनों केवल दो साल की थीं।

मलिका के तबाह माता-पिता इमल अखमदी याद करते हैं, “ब’मबारी की सुबह, वह आई और मुझे चूमा, और कहा: ‘गुड मॉर्निंग, पिता।’ यह हमारी आखिरी बैठक थी। मैं उसे फिर कभी नहीं देखूंगा।”

अखमदी ने आरटी को बताया कि जीवित परिवार के सदस्य ह’मले के बाद भी “सदमे में” हैं और बस अपने घर नहीं लौट सकते हैं, जहां उन्होंने “बच्चों के शरीर के हिस्से” बिखरे हुए पाए हैं। “मानसिक रूप से, हम स्थिर स्थिति में नहीं हैं। औरतें खामोश हैं। वे बोलती नहीं हैं।”

सुमाया के पिता ने अमेरिकी ड्रोन ह’मले को एक “बेवकूफ सोच” करार दिया और यह स्पष्ट कर दिया कि परिवार का ISI’S-K से कोई संबंध नहीं था। “वे कहते हैं कि IS’IS-K इसी घर में रहता था। क्या इस घर में ये बच्चे इस्ला’मिक स्टे’ट के सदस्य थे?”

बिना किसी सबूत के, बिना किसी जांच के, उन्होंने हम पर हम’ला किया और हमारे बच्चों को मा’र डाला, और हम उन्हें कभी माफ नहीं करेंगे। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से यह सुनिश्चित करने का आह्वान किया कि ड्रोन हम’ले की पूरी तरह से जांच की जाए।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article