No menu items!
8.1 C
New Delhi
Friday, January 28, 2022

महिलाओं के ड्राइविंग करने से सऊदी की अर्थव्यवस्था में $90 अरब का इज़ाफा

सऊदी अरब एक अमीर देश यह तो सभी को पता है. दुनिया में सबसे ज्यादा तेल का उत्पादन सऊदी में ही होता है . इन दिनों में कई तरह के परिवर्तन देखे जा रहे है. हाल ही अगर अगर बात करें तो सऊदी में इन दिनों सऊदी महिलाओं को काफी तव्वजो दिया जा रहा है. महिलाओं को ख़ास अधिकार दिए जा रहे है. सऊदी में सभी सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के नेतृत्व में हो रहे है.

ब्लूमबर्ग इकॉनमिक्स के मुताबिक इस कदम से सऊदी अरब के इकॉनमिक आउटपुट में 2030 तक 90 अरब डॉलर यानी करीब 6 लाख 16 हजार 200 करोड़ रुपये का इजाफा होगा. यह कमाई सऊदी अरब की दिग्गज सरकारी तेल कंपनी अरमाको के 5 फीसदी शेयरों से 100 अरब डॉलर तक की कमाई के लगभग बराबर होगी. महिलाओं के गाड़ी चलाने पर बैन वाले एकमात्र देश होने की अपनी स्थिति को सऊदी अरब ने पिछले दिनों खत्म कर दिया था. कई महिलाओं को राजधानी रियाद की सड़कों पर गाड़ियां चलाते देखा गया. यहां तक की कई महिलाओं को बैन खत्म होने की खुशी में गाड़ियों का काफिला निकालते देखा गया.

ब्लूमबर्ग इकॉनमिक्स के दुबई स्थित चीफ मिडल ईस्ट इकॉनमिस्ट जियाद दाऊद ने कहा, ‘ड्राइविंग से बैन हटाने के चलते महिलाओं के रोजगार के आंकड़े में इजाफा होगा. वर्कफोर्स के साइज में भी इससे इजाफा होगा. इससे कुल इनकम और आउटपुट में भी इजाफा होगा’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन इसमें समय लगेगा. इकॉनमी में महिलाओं की भागीदारी बढ़ने पर आउटपुट में भी इजाफा होगा.’

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के प्रयासों के प्रयासों से इन सामाजिक सुधारों की नींव पड़ी है. क्राउन प्रिंस ने देश की तेल पर निर्भरता को खत्म करने के मद्देनजर नए सेक्टरों को उभारने का प्लान बनाया है. इनमें से एक एंटरटेनमेंट सेक्टर पर निर्भरता बढ़ाना भी है. आपको बता दें की सऊदी महिलाओं ने ड्राईवर के तौर पर टैक्सी चलाना शुरू भी कर दिया है.

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Get in Touch

0FansLike
3,141FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Posts

error: Content is protected !!