इस साल हज पर जाना चाहते हैं तो जान लें यह जरूरी शर्त, सऊदी अरब ने किया बड़ा ऐलान

दुनियाभर के करोड़ों मुस्लिमों के लिए अच्‍छी खबर है। कोरोना वायरस संकट के बीच सऊदी अरब सरकार ने ऐलान किया है कि वह इस साल दुनियाभर के मुसलमानों को हज यात्रा के लिए मंजूरी देने जा रहा है। हालांकि सऊदी अरब सरकार ने इसके लिए एक अनिवार्य शर्त रखी है। उसने कहा है कि हज यात्रा पर आने वाले जायरीनों को यह साबित करना होगा कि उन्‍होंने कोरोना वायरस वैक्‍सीन लगवाई है।

सऊदी अरब के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा कि वह कोरोना वायरस वैक्‍सीन लगवाए जाने को मक्‍का आने के लिए सबसे प्रमुख शर्त के रूप में रखेगा। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री तवफिक अल रबियाह ने कहा कि सभी हज यात्रियों के लिए कोरोना वैक्‍सीन लगवाना अनिवार्य होगा। हालांकि अभी सऊदी सरकार ने अभी यह नहीं बताया है कि वह इस साल बाहर से आने वाले हज‍यात्रियों को आने की अनुमति देगा या नहीं।

दुनियाभर के लाखों मुसलमानों को लगा था गहरा झटका
हर साल हज यात्रा में भारत समेत पूरी दुनिया से 20 लाख लोग जाते हैं। मान्‍यता है कि जीवन में एक बार हज यात्रा करनी चाहिए। पिछले साल सऊदी अरब ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया था जिसमें कोरोना के खतरे को देखते हुए केवल कुछ ही हज‍ यात्रियों को अनुमति दी गई थी। सऊदी अरब ने दुनियाभर के ऐसे 1000 लोग जो पहले ही देश में हैं, उन्‍हें हज करने की अनुमति दी गई थी।

सऊदी अरब सरकार के इस फैसले से दुनियाभर के लाखों मुसलमानों को गहरा झटका लगा था जो हज यात्रा करने की उम्‍मीद लगाए हुए थे। इस साल हज यात्रा 17 जुलाई से शुरू होने जा रही है। सऊदी अरब की अर्थव्यवस्था में हज और उमराह से होने वाली आमदनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। माना जा रहा है कि पिछले साल हज यात्रा को सीमित करने से से सऊदी अर्थव्यवस्था को तगड़ी चोट लगी थी।