रूस देगा ईरान को एडवांस सेटेलाईट, सऊदी से लेकर अमेरिका तक की बड़ी टेंशन

रूस ईरान को एक उन्नत उपग्रह प्रदान करने की तैयारी कर रहा है जो उसे मध्य पूर्व में संभावित सै’न्य लक्ष्यों को ट्रैक करने में सक्षम करेगा।

रायटर ने बताया, रूस की और से ईरान को एक उच्च-रिज़ॉल्यूशन कैमरे से लैस एक रूसी-निर्मित कनोपस-वी उपग्रह दिया जाएगा, जिसे रूस से हाल के महीनों के भीतर लॉन्च कर सकता है।

अखबार ने कहा कि उपग्रह “फारस की खाड़ी की तेल रिफाइनरियों और इ’जरा’यल के सै’न्य ठिकानों से लेकर इराकी बैरकों तक अमेरिकी सैनि’कों के बेस की निरंतर निगरानी” की अनुमति देगा। जबकि कनोपस-वी नागरिक उपयोग के लिए दिया जाएग है। ईरान के इस्लामिक रिवो’ल्यूशनरी गार्ड्स कॉर्प्स के नेताओं ने समझौते पर बातचीत करने में मदद करने के लिए 2018 से रूस की कई यात्राएं की हैं।

जिसके बाद रूसी विशेषज्ञों ने ईरान की यात्रा की ताकि तेहरान के पश्चिम में कारज के पास एक नवनिर्मित बेस से उपग्रह का संचालन करने वाले कर्मचारियों की मदद की जा सके। उपग्रह में रूसी हार्डवेयर की सुविधा होगी।

रिवोल्यू’शनरी गार्ड्स ने अप्रैल 2020 में कहा कि उन्होंने देश के पहले सै’न्य उपग्रह को कक्षा में सफलतापूर्वक लॉन्च कर दिया था, इस दौरान तत्कालीन अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने तेहरान को जवाबदेह ठहराने के लिए कहा था क्योंकि उनका मानना ​था कि कार्रवाई संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव को धता बताती है।