प्रतिबंधों के बीच अमेरिका के साथ बातचीत के अवसर पैदा नहीं होंगे: ईरानी विदेश मंत्री

ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने कहा कि प्रतिबंधों के साथ परमाणु समझौते पर संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ बातचीत के अवसर पैदा नहीं होंगे, बल्कि मामले को और अधिक जटिल बना देंगे।

राज्य टेलीविजन के अनुसार, नाट्रान पर’माणु सुविधा पर हमले के जवाब में कल राजधानी तेहरान में ज़रीफ़ और उनके रूसी समकक्ष सर्गेई लावरोव के बीच हुई बैठक में यह बात सामने आई।

बैठक के दौरान, दोनों पक्षों ने क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा की, जिसमें तेहरान और मास्को के बीच दीर्घकालिक सहयोग समझौते, पर’माणु समझौते और तेहरान पर लगाए गए प्रतिबंध शामिल हैं। ज़रीफ़ ने कहा: “संयुक्त राज्य को पता होना चाहिए कि तोड़फोड़ और तोड़फोड़ के कार्य वार्ता के लिए अवसर प्रदान नहीं करेंगे। ये कार्रवाई केवल उनके लिए मामले को जटिल बनाएगी।”

उन्होंने कहा कि इस सप्ताह के अंत में एक हमले में क्षति’ग्रस्त हुए लोगों की तुलना में नटज़ान पर’माणु सुविधा जल्द ही अधिक परिष्कृत सेंट्री’फ्यूज के साथ आगे बढ़ेगी।

उन्होंने संकेत दिया कि तेहरान यूरोपीय अधिकारियों को ईरानी अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाने के यूरोपीय संघ के फैसले के जवाब में अपनी प्रतिबंध सूची में शामिल करेगा।

“यूरोप एक नैतिक रूप से बेहतर स्थिति में नहीं है और इस संबंध में दुनिया को उपदेश नहीं दे सकता। ज़ेनो’*फ़ोबिया और इस्ला*मोफ़ो’बिया ने यूरोप में भयानक स्थिति पैदा कर दी है।”