NRC पर बांग्लादेश का बयान: अवैध गैर-बांग्लादेशियों को वापस भारत भेजा जाएगा

ढाका. राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) को भारत का आंतरिक मामला करार देते हुए बांग्लादेश के विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन ने कहा है कि बीते हफ्तों जो भी लोग में अवैध तरीके से बांग्लादेश में घुसे हैं, उनकी जांच होगी।

मोमेन ने कहा कि अगर वे लोग गैर-बांग्लादेशी पाए जाते हैं, तो उन्हें वापस भारत भेजा जाएगा। वे भारत में अवैध तरीक से रह रहे बांग्लादेशियों को बकायदा जांच के बाद देश में वापस लेने के लिए तैयार हैं। इस बारे में भारत को जानकारी दे दी गई है।

इससे पहले बॉर्डर गार्ड्स बांग्लादेश (BGB) के महानिदेशक मेजर जनरल शफीनुल इस्लाम ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बल भारत में अवैध लोगों के प्रवेश को रोकना जारी रखेगा।

शफीनुल इस्लाम ने कहा कि लोग परिवारों और रिश्तेदारों से मिलने के लिए अलग-अलग कारणों से सीमा पार करते हैं। हमने भारत की ओर से किसी भी बांग्लादेशी को वापस हासिल नहीं किया है।

उन्होंने कहा कि जितने भी बांग्लादेशी नागरिक भारत आए थे और वापस बांग्लादेश गए हैं, वे सभी अपनी मर्जी से वापस आ गए हैं। लगभग 300 लोगों को बिना दस्तावेजों के पकड़ा गया है।

वहीं सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने बताया कि इस्लाम की अगुवाई में BGB का एक शिष्टमंडल अपने समकक्षों से महानिदेशक स्तर की सीमा वार्ता के भारत के दौरे पर है। NRC मुद्दे पर टिप्पणी मांगे जाने पर उन्होंने कहा, ‘यह पूरी तरह भारत सरकार का आंतरिक मामला है।’