नसीरुद्दीन शाह ने अनुपम खेर को बताया जोकर, कहा – ज्यादा तवज्जो देने की जरूरत नहीं

CAA-NRC के खिलाफ देश भर में विरोध प्रदर्शनों के बीच बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि ‘अगर देश में 70 साल रहने के बावजूद यह साबित नहीं किया जा सकता है कि मैं इस देश का नागरिक हूं तो मुझे नहीं पता फिर किससे ये साबित होगा. मौजूदा दौर की बात करूं तो मैं ये कहना चाहता हूं कि मैं किसी से डरता नहीं हूं, ना ही मैं बैचेन हूं लेकिन मैं बेहद गुस्सा हूं.’

‘द वायर’ को दिए गए एक इंटरव्यू में नसीर ने देश में बढ़ती सांप्रदायिकता पर भी चिंता जाहिर की है। साथ ही उन्होंने अनुपम खेर का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं ट्विटर पर नहीं हूं, ट्विटर पर मौजूद इन लोगों के बारे में मैं वास्तव में चाहता हूं कि वे जिस चीज के बारे में विश्वास रखते हैं उस पर अपना मन बना लें।’

उन्होंने कहा, ‘अनुपम खेर जैसे लोग काफी मुखर हैं। मुझे नहीं लगता कि उनको बहुत ज्यादा तवज्जो दिए जाने की जरूरत है, वह एक मसखरे हैं, उनके एनएसडी और एफटीआईआई के साथी सायकोपैथिक नेचर को बता सकते हैं, यह उनके खून में है और इसे वह नहीं बदल सकते। दूसरी तरफ जो लोग विरोध कर रहे हैं उन्हें फैसला लेना चाहिए कि वे कहना क्या चाहते हैं, हमें हमारी जिम्मेदारी याद न दिलाएं, हम अपनी जिम्मेदारी जानते हैं।’

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) कैंपस में पिछले साल दिसंबर में हुई हिंसा को लेकर उन्होने कहा,  ‘आपको दीपिका जैसी लड़की के साहस की सराहना करनी चाहिए, जो कि शीर्ष पर है और ऐसा कदम उठाती है।’ उन्होंने इसके अलावा पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘वे खुद कभी स्टूडेंट नहीं रहे हैं, यही कारण है कि पीएम मोदी छात्रों और बुद्धिजीवियों के प्रति बेहद असंवेदनशील रवैया अपना रहे हैं।’


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]