Home कानून सम्बंधित कानून जानें: क्या आपने कभी झूठे विज्ञापन के लिए मुकदमा किया है...

कानून जानें: क्या आपने कभी झूठे विज्ञापन के लिए मुकदमा किया है ?

33
SHARE

टीवी पर आने वाले ऐड हर कोई देखता है, इन ऐड का प्रचार कोई और नहीं बल्कि सुपरस्टार करते हैं, जिसके बाद हम लोग सोचते हैं की अगर हमारा सुपरस्टार इसका ऐड कर रहा है तो हम यही चीजें खरीदेंगे. किसी भी ग्राहक की जिन्दगी में ऐड उसकी पसंद में बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं.

हर साल, कंपनियां अपने प्रोडक्ट को बेचने में और उनके विज्ञापन में लाखों खर्च करती हैं. हमारे दैनिक जीवन में, हम भी विभिन्न झूठे और भ्रामक विज्ञापनों की चपेट में आ जाते हैं. मिसाल के तौर पर, फेयरनेस क्रीम जो असंख्य झूठी उम्मीदों की दुनिया बनाते हैं , इस क्रीम के ऐड से लाखों लोग उम्मीद करते हैं की वह गोर हो जायेंगे. इस ऐड में बताया जाता है की जो काले लोग हैं वह कुछ ही दिनों में गोर हो जायेंगे. यह ऐड लोगों में गोरेपन की झूठी आशा दिलाते हैं. उदाहरण के लिए, इमामी की टैगलाइन “इमामी फेयर एंड हैण्डसम इज बी फेयर एंड बी हैण्डसम ” . लेकिन क्या इस क्रीम के उपयोग से आप सच में सुन्दर और गोर हुए हो?

इससे पहले भ्रामक विज्ञापनों को नियंत्रित करने के लिए कोई व्यापक कानून नहीं था,लेकिन अब इससे कोर्ट द्वारा विनियमित किया गया था. इसके बाद, विज्ञापन मानक परिषद (ASCI एएससीआई) की स्थापना गयी जो की ग्राहकों को धोखा दे रही कंपनियों को सही राह पर लाने के लिए बनाया गया है ताकि यह कंपनियां इस पर बनाये गए नियमों का पालन कर सके. एएससीआई का कर्तव्य विज्ञापन अभ्यास के कोड के आधार पर शिकायतों का निपटान करना था.

शिकायत कैसे करें-

निम्नलिखित में से किसी भी तरीके से शिकायत की जा सकती है-


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

(i) महासचिव को संबोधित पत्र के माध्यम से, विज्ञापन मानक परिषद ASCI , 21 9 बॉम्बे मार्केट, तार्डियो, मुंबई 400 034;

(ii) एक ईमेल भेजकर (asci@vsnl. com; alan@ascionline.org);

(iii) आप www.ascionline.org पर ऑनलाइन शिकायत भी रजिस्टर कर सकते हैं.

(iv) आप शिकायत दर्ज कराने के लिए एएससीआई 022 23513982 या 022 23521066 या 1-800-22 -2724 (टोल-फ्री) पर कॉल कर सकते हैं.

 

शिकायत कौन कर सकता है?

(ए) सरकारी अधिकारियों, उपभोक्ता समूहों, आदि सहित आम जनता,

(बी) एएससीआई बोर्ड, सीसीसी, या सचिवालय के सदस्य शिकायत कर सकते हैं

(सी) इंट्रा-इंडस्ट्री यानी एक विज्ञापनदाता दूसरे के खिलाफ शिकायत दर्ज कर सकता है .

उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, 1 9 86 के तहत शिकायत

उपभोक्ता निवारण मंच असंतुष्ट उपभोक्ताओं की समस्या को संबोधित करता है. कोई उपभोक्ता जो भ्रामक विज्ञापन का शिकार रहा है, उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, 1 9 86 के तहत इस तरह के अनुचित व्यापार प्रथाओं के खिलाफ निवारण की तलाश कर सकता है. वह राहत का पालन करने के हकदार होगा- भुगतान की गई कीमत का रिफंड,उसे मिल सकता है. अगर कोई भी ग्राहक अगर किसी भी भ्रामक विज्ञापन का शिकार हुआ है तो वह इस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर सकता है.

कीमत के बराबर धन की वापसी.

किसी भी नुकसान या चोट के लिए मुआवजा भुगतना .

विपरीत पक्ष को भ्रामक विज्ञापन के प्रभाव को बेअसर करने के लिए सुधारात्मक विज्ञापन जारी करने का आदेश दिया जा सकता है.

अदालत उपभोक्ता को दंडनीय क्षति और मुकदमे की लागत भी दे सकती है.

(Lawzgrid – इस लिंक पर जाकर आप ऑनलाइन अधिवक्ता मुहैया कराने वाले एप्लीकेशन मोबाइल में इनस्टॉल कर सकते हैं, कोहराम न्यूज़ के पाठकों के लिए यह सुविधा है की बेहद कम दामों पर आप वकील हायर कर सकते हैं, ना आपको कचहरी जाने की ज़रूरत है ना किसी एजेंट से संपर्क करने की, घर घर बैठे ही अधिवक्ता मुहैया हो जायेगा.)